नई दिल्ली. अगले साल कई राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के साथ-साथ राष्ट्रपति चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनावों को लेकर भी हलचल शुरू हो गई है। इसी सिलसिले में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मिलने उनके घर पहुंचे। माना जा रहा है कि प्रशांत किशोर समूचे विपक्ष को साधने में लगे हैं।

राहुल गांधी और प्रशांत किशोर की ये मुलाकात दो घंटे से अधिक वक्त तक चली। बैठक में राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी भी शामिल थीं और माना जा रहा है कि सोनिया गांधी ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया।

पीके का मानना है कि अगर विपक्ष एकजुट होता है तो बीजेपी के गेमप्लान को चौपट किया जा सकता है, ऐसे में 2024 के चुनाव से पहले ये फायदेमंद होगा।

वहीं प्रशांत किशोर हाल ही में शरद पवार से भी दो बार मिल चुके हैं। ऐसे कयास लगाया जा रहा है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस (NCP) के प्रमुख शरद पवार को अगले राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर पेश किया जा सके।

इसके अलावा पीके का मानना है कि अगर विपक्षी पार्टियों के साथ बीजेडी के नवीन पटनायक आते हैं, तो ये राह आसान होगी। क्योंकि महाराष्ट्र और तमिलनाडु जैसे बड़े राज्यों में इस वक्त विपक्षी पार्टियों की सरकार है, ऐसे में यहां से बड़े नंबर मिलने की आस है।

Kanwar Yatra 2021: उत्तराखंड के बाद ओडिशा में भी रद्द हुई कांवड़ यात्रा, यूपी में इजाजत देने पर योगी सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

Assam Cattle bill: असम में पेश किया गया कैटल बिल, हिंदू, सिख, जैन समुदायों वाले इलाकों में और मंदिर के 5 किमी दायरे में नहीं बेच सकते बीफ, विपक्ष का विरोध

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर