नई दिल्ली. नई दिल्लीः जम्मू कश्मीर में रमजान के बाद और अमरनाथ यात्रा शुरू होने से पहले विधानसभा चुनाव हो सकते हैं. रमजान 4 जून को समाप्त होगा और अमरनाथ यात्रा पहली जुलाई से शुरू होगी यानी 5 जून से 30 जून के बीच जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं. इस मामले में चुनाव आयोग ने राज्य प्रशासन और गृह मंत्रालय ने सूचित कर दिया है.

चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर में 6 से 8 चरणों में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं. मालूम हो कि 3 जुलाई को राष्ट्रपति शासन के 6 महीने पूरे हो रहे हैं. मालूम हो कि जम्मू-कश्मीर में लोकसभा की 6 सीटों पर 5 चरणों में चुनाव होंगे. लोकसभा चुनाव के लिए राज्य में 70 हजार से ज्यादा अर्द्धसैनिक बलों के जवान तैनात किए जाएंगे. इनके अलावा राज्य पुलिस भी वहां तैनात रहेंगे.

गौरतलब है कि मार्च की शुरुआत में चुनाव आयोग की टीम जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर गई थी, जहां उन्होंने चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया. खबर ये आ रही थी कि वहां लोकसभा चुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव भी आयोजित किए जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. 11 अप्रैल से शुरू हो रहे लोकसभा चुनाव के दौरान देशभर में सात चरणों में वोट डाले जाएंगे.

पुलवामा हमले के बाद घाटी के बिगड़े हालात के बीच वहां चुनाव कराना भी मुश्किल काम है. चुनाव आयोग ने घाटी के हालात जानने के बाद वहां लोकसभा चुनाव के बाद विधानसभा चुनाव करने के बारे में सोचा. उल्लेखनीय है कि 4 जून तक रमजान है और फिर एक जुलाई से अमरनाथ यात्रा शुरू हो जाती है. ऐसे में जून के महीने में ही विधानसभा चुनाव कराए जा सकते हैं. कुछ दिनों में चुनाव आयोग तारीखों की घोषणा करने वाला है.

Jammu and Kashmir Teachers Recruitment 2019: जम्मू-कश्मीर लेक्चरर पदों पर निकली बंपर भर्ती, जानें कितनी होगी सैलरी

Bardoli Lok Sabha Election Results 2019: गुजरात की बारडोली लोकसभा सीट पर साल 2014 में बीजेपी के प्रभुभाई वसावा ने कांग्रेस और बसपा को चटाई थी धूल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App