पंजाब. बीते दिनों कैप्टेन अमरिंदर सिंह की पाकिस्तानी मित्र अरूसा आलम सुर्ख़ियों में बनी थी. अरूसा के ISI कनेक्शन की जांच की जा रही है. पंजाब कांग्रेस का कहना है कि पंजाब पर पाकिस्तानी खतरा मंडरा रहा है, इसलिए अरूसा आलम के ISI कनेक्शन ( Amarinder Singh’s Pakistan friend’s links with ISI ) की जांच की जा रही है. इसपर कैप्टन ने भी पार्टी पर तीखे सवाल करते हुए कहा है कि बीते 16 सालों से अरूसा आलम भारत आती रही हैं, लेकिन कभी इनके ISI कनेक्शन की जांच नहीं हुई, फिर अब क्यों. अरूसा ने अब अपने ISI कनेक्शन और कैप्टेन के साथ रिश्ते पर ( Arusa Aalam-Capt Amarinder singh relation ) चुप्पी तोड़ते हुए इसका जवाब दिया है.

हम साथी रहे हैं – अरूसा आलम ‘

अरूसा आलम ने अपने और कैप्टेन के रिश्ते पर उठ रहे सवालों का जवाब दिया है. अरूसा का कहना है कि वो और कैप्टेन अच्छे दोस्त हैं, वो अच्छे साथी रहे हैं लेकिन उनमे लवर जैसा कुछ नहीं है. अरूसा कहती हैं कि “मैं और कैप्टेन जब मिले थे तब वो 66 के थे और मैं 56 की, इस उम्र में प्यार जैसी कोई चीज़ नहीं होती. हम एक-दुसरे के अच्छे साथी रहे हैं. मैं उनकी बहन, माँ और परिवार से भी मिली हूँ.”

ISI कनेक्शन पर क्या बोली अरूसा आलम

अपनी आईएसआई कनेक्शन पर अरूसा आलम कहती हैं कि, ‘जब पाकिस्तानी को वीजा मिलता है तो बहुत सारी जांच होती है. बैकग्राउंड चेक किया जाता है. इसमें कई सारी एजेंसियां शामिल होती हैं. मैं पिछले 16 साल से भारत की यात्रा कर रही हूं और हर बार मुझे सिक्योरिटी क्लियरेंस मिला है. मेरे आईएसआई से लिंक कैसे हो सकते हैं जो इतने सालों से एजेंसियों को पता नहीं चला, अगर मेरे आईएसआई से लिंक हैं तो ये आपकी सुरक्षा एजेंसियों पर ही उंगली उठाता है जो मुझे इतने सालों से आने दे रहे थे.’

 

यह भी पढ़ें :

Afghanistan Crisis: अफ़ग़ानिस्तान में भूखमरी के चलते लोग बेटियों को बेचने पर हुए मजबूर

कोरोना की चपेट में Emraan Hashmi, टाइगर 3 की शूटिंग रुकी!

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर