नई दिल्ली. Arts Graduate Courses after 12th for Students: सीबीएसई और राज्य एजुकेशन बोर्डों के 12वीं के रिजल्ट आ चुके हैं, ऐसे में करोडों स्टूडेंट हायर स्टडीज यानी ग्रैजुएशन में एडमिशन की तैयारियों के साथ ही बेहतर सब्जेक्ट चुनने की कोशिश में लग गए हैं. जिन छात्रों ने 12वीं यानी प्लस 2 में ह्यूमैनिटीज सब्जेक्ट रखा था और वे ग्रैजुएशन यानी स्नातक में आर्टस सब्जेक्ट लेकर पढ़ाई करना चाहते हैं, उनके पास इतिहास (History), भुगोल (Geography), अर्थशास्त्र (Economics), इंग्लिश लिटरेचर मनोविज्ञान (Psychology), सामाजिक विज्ञान (sociology), राजनीति शास्त्र (Political Science), कानून (Law), हिंदी साहित्य (Hindi literature), भाषा (language course), शिक्षा (Education), बीबीए, होटल मैनेजमेंट, जर्नलिजम एंड मास कम्युनिकेशन, इवेंट मैनेजमेंट, रिटेल एंड फैशन मर्चेंडाइज समेत अन्य कई सब्जेक्ट में बीए ऑनर्स करने का ऑप्शन है.

यहां बता दूं कि 10वीं के बाद 12वीं या प्लस 2 में ह्यूमैनिटीज स्ट्रीम वाले स्टूडेंट्स को हिस्ट्री, जियोग्राफी हिंदी साहित्य, पॉलिटिकल साइंस, सोशल साइंस, सोशियोलॉजी, इकोनॉमिक्स, इंग्लिश लिटरेचर, साइकोलॉजी समेत अन्य सब्जेक्ट्स पढ़ने होते हैं, ऐसे में 12वीं के बाद उनके सामने इनमें से ही पसंदीदा सब्जेक्ट चुनकर उसे ग्रैजुएशन में मेन सब्जेक्ट्स बनाने का विकल्प होता है जो कि स्टूडेंट्स के लिए सही भी है, क्योंकि उनमें ज्यादा मार्क्स आने की संभावना होती है.

12वीं के बाद आर्ट्स सब्जेक्ट से ग्रैजुएशन करने वाले स्टूडेंट्स के पास इन कोर्सेस में एडमिशन लेने का ऑप्शन

बैचलर ऑफ आर्ट्स (B.A): ह्यूमैनिटीज स्ट्रीम से 12वीं करने वाले ज्यादातर स्टूडेंट्स बीए ऑनर्स करते हैं. साथ ही उनके पास बीए पास का भी ऑप्शन होता है. इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि स्टूडेंट 12वीं में भी हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, जियोग्राफी, सोशियोलॉजी, साइकोलॉजी, इकॉनोमिक्स, हिंदी और इंग्लिश जैसे सब्जेक्ट पढ़ चुके होते हैं.

ह्यूमैनिटीज स्ट्रीम से 12वीं करने वाले स्टूडेंट्स के लिए बेचलर ऑफ फाइन आर्ट्स (B.F.A.) , जर्नलिजम एंड मास कम्युनिकेशन (Journalism and Mass Communication), होटल मैनेजमेंट (Hotel Management), बेचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (B.B.A.), इवेंट मैनेजमेंट (Event Management), फैशन डिजाइन (Fashion Design), रिटेल एंड फैशन मर्चेंडाइज (Retail and Fashion Merchandise), इंटिग्रेटेड लॉ कोर्स (Integrated Law course), ग्राफिक डिजाइन (Graphic Design), टीचर ट्रेनिंग कोर्सेस (Teacher Training courses), एक्टिंग स्कूल (Acting School) समेत कई ऐसे ऑप्शंस है, जिनकी मदद से वे स्नातक में एडमिशन ले सकते हैं और अगले 3 साल में करियर को ऊंचा मुकाम दे सकते हैं.

Commerce Career Options For Students After Graduation: कॉमर्स से 12वीं के बाद इन कोर्सेस में ग्रेजुएशन कर स्टुडेंट्स बना सकते है अपना करियर, सीए, सीएस, बी.कॉम ऑनर्स और बीबीए, बीबीए बीएमएस, बीबीए एलएलबी

PCM PCB Graduate Courses Subject Options for Science: विज्ञान से स्नातक कोर्स के लिए पीसीएम और पीसीबी वाले साइंस स्टुडेंट्स कौन सा ग्रैजुएशन सबजेक्ट लें- मैथ, फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलोजी, बॉटनी या कोई और विषय

3 responses to “Arts Graduate Courses after 12th for Students: आर्ट्स से स्नातक कोर्स के लिए ह्यूमैनिटीज वाले स्टूडेंट्स कौन सा ग्रैजुएशन सबजेक्ट लें- हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, अंग्रेजी, हिंदी साहित्य, साइकोलॉजी, सोशियोलॉजी, अर्थशास्त्र, जियोग्राफी या कोई और विषय”

  1. Bihar ahet 2019
    बिहार मे माध्यमिक शिक्षक के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा का आवेदन लिया जा रहा है। अफसोस की बात यह है कि इसमे वे ही सामिल हो सकते है, जिन्होंने स्नातक में इतिहास,भूगोल, राजनीती शास्त्र और अर्थशास्त्र मे से दो विषय मे उत्तीर्णता हासिल की हो। जिन्होंने स्नातक मे समाज शास्त्र (Sociology) विषय को रखा है, वैकल्पिक विषय मे उपरोक्त चार मे से कोई एक ही है वे सामाजिक विज्ञान के शिक्षक के लिए पात्र नही हैं।

    यदि ऐसा है, तब सवाल है कि स्नातक मे समाज शास्त्र विषय रखने वाले को बीएड मे नामांकित ही क्यूँ किया जाता है? क्यूँ उनसे भारी भरकम राशि खर्च कराकर उनका कीमती समय बर्बाद कराया जाता है? क्यूँ उन्हें शिक्षक बनने का सपना दिखाया जाता है?

    अतः सरकार से अनुरोध है कि बिहार S-TET में समाज शास्त्र विषय से स्नातक उत्तीर्ण को भी शामिल किया जाय या स्नातक मे समाज शास्त्र विषय रखने वाले को बीएड में नामांकित ही नहीं किया जाय।

  2. There are lot of courses after 12th but The demand for graphic designers is very high in India and it is only set to go up in the future. Graphic design and web designing is very common these days and it is used in almost every field to make things more creative by using different tools like adobe pagemaker ,corel draw,photoshop .Graphic design also play a very significant role helping the students to pursue their career and fullfill their dreams and Quantum university providing a quality education in this field
    http://www.quantumuniversity.edu.in/media-studies-design/bsc-graphics-design-ui

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App