मणिपुर. उग्रवादी हमले ( Manipur attack ) के चलते आज देश ने अपना एक और वीर सपूत खो दिया. आज सुबह हुए उग्रवादियों के हमले में कर्नल विप्लव के सथ उनकी पत्नी अनुजा और पांच साल के बेटे अबीर की मौत हो गई. इसके साथ ही चूड़ाचांदपुर जिले के सिनघाट सब-डिवीजन में हुए हमले में चार जवान भी शहीद हो गए.

आज पहली बार पत्नी और बेटे के साथ चेक पोस्ट के लिए निकले कर्नल विप्लव त्रिपाठी

यह घटना ( Manipur Attack ) आज सुबह तब हुई जब कर्नल विप्लव त्रिपाठी रोजाना की तरह चेक पोस्ट के इंस्पेक्शन के लिए निकले थे. बता दें कि यह उनके रूटीन का हिस्सा था. कहते हैं की मौत कब कहाँ और कैसे सामने आएगी इस बात का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता. ऐसे में आज कर्नल का परिवार भी उनके साथ गया था. पत्नी अनुजा और बेटा विप्लव भी उनके साथ गाड़ी में मौजूद थे जब उग्रवादियों ने पहले विस्फोट और फिर दनादन गोलियां दाग कर पूरे परिवार को मौत की नींद सुला दिया.

ख़बरों के मुताबिक ऑफिसर कर्नल विप्लव की गाड़ियों के काफिले में आगे चल रही गाड़ी में ब्लास्ट हुआ. बीच वाली गाड़ी में वह खुद अपने परिवार के साथ बैठे हुए थे. ब्लास्ट के बाद दोनों बची हुई गाड़ियों पर उग्रवादियों ने गोलियों की बौछार करना शुरू कर दिया. जिसके चलते कर्नल और उनकी पत्नी की घटना स्थल पर ही मौत हो गई.

परिवार के बड़े बेटे थे कर्नल विप्लव त्रिपाठी

आज सुबह उग्रवादियों के हमले में शहीद हुए कर्नल विप्लव अपने परिवार के बड़े बेटे थे. उनका एक छोटा भाई भी है जो सेना में ऑफिसर है. उससे छोटा भाई भी मणिपुर में पदस्थ है. फिलहाल वह छुट्टियों में रायगढ़ आए हुए था. बड़े भाई की मौत की सूचना मिलते ही वे फ़ौरन मणिपुर के लिए रवाना हो गए हैं. वहीं, कर्नल विप्लव और उनके शहीद परिवार के पार्थिव शरीर को सेना के विशेष विमान से कल रायगढ़ लाया जाएगा.

कर्नल विप्लव त्रिपाठी के पत्रकार

रायगढ़ में पले-बढ़े कर्नल विप्लव के पिता सुभाष त्रिपाठी पेशे से पत्रकार हैं. घटना की सूचना मिलने के बाद से पूरे परिवार में मातम का माहौल है. पूरा परिवार अपने वीर सदस्य के जाने का गम बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है. वहीँ, कर्नल के शहीद होने बाद से ही रायगढ़ के हरी झंडी चौक पर स्थित सुभाष त्रिपाठी के घर में लोगों का भारी जमावड़ा लग गया है. बता दें कि घटना पर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राज्यपाल अनुसुइया उइके ने शोक जताया है.’

यह भी पढ़ें :

26 Naxalites killed in Encounter: महाराष्ट्र में नक्सलियों से मुठभेड़, 26 नक्सली हुए ढेर

Akhil Bhartiya Rajbhasha Sammelan हमें राजभाषा को मजबूत करने की जरूरत : शाह

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर