नई दिल्ली. सेना प्रमुख बिपिन रावत ने सालाना प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि तमाम कोशिशों के बावजूद जम्मू कश्मीर और आतंकवाद और आतंकवादियों की संख्या में कोई कमी नहीं आ रही है. आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को साफ संदेश देते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि एलओसी पर पाकिस्तान जब भी संघर्ष विराम का उल्लंघन करता तो हम उसे मुंहतोड़ जवाब देते हैं. पाकिस्तान लगातार आतंकी भेजता ही रहेगा. आप जितने भी आतंकी मारोगे वो और भेज देगा. इसके लिए हमने निर्धारित किया है कि पाकिस्तान की उन पोस्ट को निशाना बनाया जाए जहां से घुसपैठ होने की संभावना होती है. पाकिस्तानी सेना अपनी नापाक हरकतों की कीमत चुकाए हम यही चाहते हैं.

आर्मी चीफ ने कहा कि हमारा मकसद पाकिस्तान की उन पोस्ट्स को बर्बाद करना रहा है जहां से घुसपैठ का शक रहता है, ताकि वह दर्द उनको महसूस हो. इसलिए जो कैजुअल्टीज पाकिस्तान ने झेली है वो हमसे तीन-चार गुना ज्यादा है. आर्मी चीफ ने कश्मीर के हालात पर कहा कि बुरहान वानी के बाद जो हालात साउथ कश्मीर में बिगड़े थे उसे संभालना मुश्किल होता है. आतंकवाद जब बिल्टअप एरिया में होता है तो बहुत मुश्किल होती है. अगर आतंकी किसी के घर में छुपा होता है तो वह घबराकर फायर करता है जिसमें हमारी तरफ से कैजुअल्टीज हो जाती है. उन्होंने कहा कि हमने 39 आतंकी जिंदा भी पकड़े हैं. हम उनको पूरा मौका देते हैं, संपर्क करते हैं. पर मैं यह कह सकता हूं कि कश्मीर में अभी आतंकवाद खत्म नहीं हुआ है. इस बार हमारा ज्यादा फोकस उत्तरी कश्मीर होगा. हम बारामुला, हंदवाड़ा, बांदीपुर, पट्टन आदि उत्तरी कश्मीर पर फोकस करेंगे.

जब उनसे पूछा गया कि क्या डोकलाम में लड़ाई भी हो सकती थी? तो उन्होंने कहा कि आप इस स्थिति के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. उन्होंने कहा कि हां, ऐसा हो सकता था. यदि यह बढ़ जाता तो ऐसा हो सकता था और हम इसके लिए तैयार थे लेकिन हम इसे इसी इलाके में सीमित रखना चाहते थे क्योंकि यहां के इलाके का भूगोल हमारे पक्ष में था. उन्होंने कहा कि चीन ताकतवर देश है तो भारत भी कमजोर नहीं. हम डोकलाम में हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार थे.

आर्मी परेड डे रिहर्सल के दौरान हादसा, ध्रुव हेलीकॉप्टर की रस्सी टूटने से 40 फुट की ऊंचाई से गिरे 3 जवान, RR अस्पताल में भर्ती

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App