Saturday, February 4, 2023

APJ Abdul Kalam: डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की सातवीं पुण्यतिथि आज, जानिए रगों में जोश भरने वाले उनके 10 प्रेरणादायी विचार

APJ Abdul Kalam:

नई दिल्ली। महान वैज्ञानिक, विचारक,लेखक और भारत के 11वें राष्ट्रपति रहे डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की सातवीं पुण्यतिथि पर आज देश उन्हें याद कर रहा है। आज हम सभी के बीच भले ही डॉ एपीजे अब्दुल कलाम नहीं हैं, लेकिन उनका आदर्शों और संघर्षो भरा जीवन हर एक भारतवासी को जीवन में अग्रसर रहने और सफलता की सीढ़ियों पर निरंतर चलते रहने को प्रेरित करता है।

मिसाइल मैन के नाम से थे मशहूर

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने एक एयरोस्पेस वैज्ञानिक होने के साथ ही 2002 से 2007 तक भारत के 11 वें राष्ट्रपति की भूमिका भी निभाई थी। उन्होंने देश की रक्षा में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। कलाम ने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के साथ भी काम किया। उन्हें भारत में हर कोई मिसाइल मैन के नाम से भी जानता है।

रामेश्वरम में जन्म, ये था पूरा नाम

बता दें कि रामेश्वरम में 15 अक्टूबर 1931 को डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म हुआ था। 83 वर्ष की उम्र में आईआईएम शिलांग में लेक्चर देने के दौरान दिल का दौरा पड़ने से 27 जुलाई 2015 को उनका निधन हो गया था। पूर्व राष्ट्रपति का पूरा नाम डॉक्टर अबुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम था।

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की सातवीं पुण्यतिथि पर आइए उनके कुछ प्रेरणादायी क्वोट्स को याद करते हैं…

डॉ कलाम के 10 प्रेरणादायी विचार

1- ख़्वाब वह नहीं होते जो हम सोते वक्त में देखते हैं, बल्कि ख़्वाब वह होते हैं जो हमें सोने ही न दें।

2- हमें जीवन में कभी किसी से हार नहीं माननी चाहिए और समस्या को हमें हराने की अनुमति नहीं देनी चाहिए।

3- जब आपकी आशाएं, सपने और लक्ष्य धराशायी हो जाते हैं, तो मलबे के बीच खोज करें, आपको खंडहर में छिपा एक सुनहरा अवसर मिल सकता हैं।

4- पहली बार जीत मिलने पर हमें आराम नहीं करना चाहिए. अगर दूसरी बार हार गए तो लोग बोलेंगे कि हमें मिली पहली जीत केवल एक तुक्का थी।

5- यदि आप समय की रेत पर अपने पैरों के निशान छोड़ना चाहते हैं, तो अपने पैरों को मत खींचो।

6- विज्ञान मानवता के लिए एक खूबसूरत तोहफा है, हमें इसे बिगाड़ना नहीं चाहिए।

7- जानें कि आप कहां जा रहे हैं। दुनिया में सबसे बड़ी बात ये नहीं जानना है कि हम कहां खड़े हैं, बल्कि हम किस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

8- इस दुनिया में किसी को हराना बहुत ही आसान है, लेकिन किसी को जीतना उतना ही मुश्किल है।

9- देश का सबसे अच्छा दिमाग कक्षा की आखिरी बेंच पर पाया जा सकता है।

10- अगर तुम सूरज की तरह चमकना चाहते हो, तो सबसे पहले सूरज की तरह जलो।

Vice President Election 2022: जगदीप धनखड़ बनेंगे देश के अगले उपराष्ट्रपति? जानिए क्या कहते हैं सियासी समीकरण

Latest news