नई दिल्ली. भारत रत्न के बाद देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मा पुरस्कारों की घोषणा की जा चुकी है. कल विजेताओं को पद्म पुरस्कार वितरित किए गए. कुल 119 हस्तियों को विभिन्न जगत में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए पद्म पुरस्कार दिए गए, इसी सूचि में महिंद्रा महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ( Anand Mahindra on Padma Awards ) का नाम भी शुमार है. उन्हें उनकी उच्च स्तर की विशिष्ट सेवा के लिए पद्म भूषण से नवाज़ा गया.

पद्म भूषण मिलने पर क्या बोले आनंद महिंद्रा

देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म पुरस्कारों के लिए तीन श्रेणियाँ हैं- पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री। पद्म विभूषण असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए, पद्म भूषण उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा के लिए और पद्मश्री किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है. कुल 119 हस्तियों को विभिन्न जगत में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए पद्म पुरस्कार दिए गए. इसी क्रम में महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया, आनंद महिंद्रा को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्म भूषण से सम्मानित किया.

आनंद महिंद्रा खुद को इस पुरस्कार के लिए योग्य नहीं मानते, इसे लेकर उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘इस सरकार ने पद्म पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं की प्रकृति को लेकर लंबे समय से लंबित, परिवर्तनकारी बदलाव किया है. अब जमीनी स्तर पर समाज के सुधार में मौलिक योगदान देने वाले व्यक्तियों पर मुख्य रूप से ध्यान केंद्रित किया जाता है. मैं वास्तव में उनकी श्रेणी में शामिल होने के लिए योग्य महसूस नहीं कर रहा था.’

देश के असल हीरोज़ को पद्म पुरस्कार

बीते कुछ सालों से पद्म पुरस्कारों में बड़े बदलाव देखने को मिल रहे हैं, जानी-मानी हस्तियों के अलावा अब आम जनता को उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए पद्म पुरस्कार दिए जा रहे हैं. इसी क्रम में नारंगी विक्रेता हरेकला हजब्बा, साइकिल मैकेनिक मोहम्मद शरीफ, अब्दुल जब्बार खान, लीला जोशो, तुलसी गौड़ा, राहीबाई सोमा पोपेरे जैसे असाधारण काम करने वाले आम लोग भी शामिल रहे हैं, जो औरों के लिए प्रेरणाश्रोत के रूप में हैं.

यह भी पढ़ें:

Vicky Kaushal Katrina kaif wedding: तो इस वजह से प्रीपोन हुई विक्की और कटरीना की शादी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर