नई दिल्ली: गृह मंत्री अमित शाह आज से 2 दिवसीय बंगाल दौरे पर रहेंगे। विधानसभा चुनाव के बाद यह गृह मंत्री का पहला दौरा है। अमित शाह का यह 2 दिवसीय दौरा काफी अहम माना जा रहा है। यह एक ऐसे समय पर हो रहा है जब पार्टी राज्य में अपने संगठनात्मक तंत्र को मजबूत करने की कोशिश कर रही है। 2021 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश में बीजेपी के कई नेता पार्टी को छोड़ चुके है और पार्टी में कलह माहौल बना हुआ है। इस मुश्किल का हल निकले उस मकसद से गृह मंत्री का यह दौरा अहम माना जा रहा है।

भारत-बंगलादेश सीमा से लगे अग्रिम इलाकों का करेंगे दौरा

गृह मंत्री अमित शाह पार्टी के सांसदों, विधायको और पार्टी पदाधिकारियों के साथ बातचीत करेंगे और कई मुद्दों पर चर्चा करेंगे। इसके साथ शाह भारत-बांग्लादेश सीमा से लगे अग्रिम इलाको का दौरा भी करेंगे और एक जनसभा को संबोधित करेंगे। ख़बरों के मुताबिक गृह मंत्री अमित शाह बृहस्पतिवार की सुबह हिंगलगंज में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ‘‘ तैरती सीमा चौकी’’का उद्घाटन करेंगे और हरिदासपुर में मैत्री संग्रहालय की आधारशिला रखेंगे। इसके बाद वे शाम को केंद्रीय मंत्री सिलीगुड़ी में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्री शुक्रवार को भारत-बांग्लादेश सीमा के तीन बीघा क्षेत्र का दौरा करेंगे और वहां पर बीएसएफ जवानों के साथ संवाद करेंगे।

बंगाल चुनाव में हार के बाद यह पहला दौरा

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव 2021 के बाद अमित शाह पहली बार बंगाल जा रहे है. इस चुनाव के बाद अबतक 7 विधायक पार्टी छोड़ चुके हैं, जबकि दिग्गज नेता बाबुल सुप्रियो और राजीब बनर्जी TMC का दामन थाम चुके हैं. वहीं, अभी कुछ दिन पहले बारासात में भाजपा के 15 नेताओ ने इस्तीफ दे दिया था. ऐसे में अमित शाह का यह दौरा पार्टी के लिए भी अहम माना जा रहा है.

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर