हरिद्वार. देश भर में इन दिनों आसामाजिक तत्वों के द्वारा महापुरुषों की स्थापित प्रतिमाओं का तोड़ने और उन्हें बदरंग करने का दौर सा चल निकला है. शुक्रवार को उत्तराखंड के हरिद्वार जिले के कान्हावाली गांव में संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ भीम राव अंबेड़कर की प्रतिमा तोड़ने का मामला सामने आयै है. इससे पहले गुरुवार को तमिलनाडु में अंबेडकर की प्रतिमा पर कालिख पोत दी थी. उससे पहले यूपी के मेरठ में आसामाजिक तत्वों ने बाबा साहब की मूर्ति को तोड़ दिया था.

स्थानीय पुलिस के अनुसार हरिद्वार के कान्हावाली गांव में बाबा साहब की प्रतिमा को आसामाजिक तत्वों ने तोड़ दिया. शुक्रवार सुबह को जब लोगों को इस बारे में पता लगा तो उस स्थान पर भीड़ उमड़ने लगी और माहौल तनावपूर्ण हो गया. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर और एसडीएम ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया. जानकारी के अनुसार इसी गांव में पहले भी बाबा साहब की मूर्ति तोड़ जा चुकी है. पुलिस का कहना है कि हम मामले की जांच कर रहे हैं.

इससे पहले गुरुवार को समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के तिरुवोत्तियूर में बाबा साहब अंबेड़कर की प्रतिमा पर अज्ञात लोगों ने बुधवार देर रात कालिख पोत दी. इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में काफी रोष है. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने इलाके को अपने कब्जे में ले लिया है और मामला दर्ज करके आरोपियों के सुराग लगाने शुरु कर दिए हैं.

मेरठ में डॉ भीमराव अंबेडकर की मूर्ति तोड़ने के बाद अब तमिलनाडु में प्रतिमा पर डाली कालिख

नहीं रुका मूर्तियां टूटने का सिलसिला, अब केरल में महात्मा गांधी की प्रतिमा तोड़ी

यूपीः लेनिन, पेरियार और श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बाद अब मेरठ में भीमराव अंबेडकर की मूर्ति तोड़ी

पेरियार की मूर्ति तोड़ने के बाद तमिलनाडु में बवाल, आठ ब्राह्मणों के जनेऊ काटकर भागे बाइक सवार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App