श्रीनगर: कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका से इस साल होने वाला बाबा अमरनाथ की पवित्र यात्रा रद्द कर दी गई है. श्री अमरथान श्राइन बोर्ड ने औपचारिक तौर पर इस साल की यात्रा को रद्द करने की घोषणा कर दी है. अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने कहा कि कोविड-19 के मौजूदा हालात को देखते हुए बोर्ड ने यात्रा रद्द करने का फैसला किया है. हालांकि पहले खबर थी कि श्री अमरनाथ यात्रा पहले 23 जून से शुरू हो सकती है फिर खबर आई कि 21 जुलाई से यात्रा शुरू होगी लेकिन अब औपचारिक तौर पर इस साल की यात्रा को रद्द करने का एलान किया जा चुका है. दरअसल अमरनाथ बर्फानी लंगर संगठन ने  यात्रा पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका भी दायर की थी. याचिका में कहा गया था कि अमरनाथ यात्रा में हर साल सालाना 10 लाख से ज्यादा भक्त पहुंचते हैं. इतनी संख्या में लोगों के आने से कोरोना फैलने का खतरा बना रहेगा.

श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष लेफ्टिनेंट गवर्नर गिरीश चंद्र मुर्मू ने मंगलवार को बोर्ड की 39वीं बैठक की अध्यक्षता की जिसमें बोर्ड के बाकी सदस्यों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया. श्राइन बोर्ड की बैठक के बाद कहा गया कि बोर्ड लाखों भक्तों की बाबा के प्रति सच्ची श्रद्धा का सम्मान करता है. बैठक में फैसला किया गया कि बाबा अमरनाथ की सुबह और शाम की आरती का लाइव टेलिकास्ट जारी रहेगा वहीं पारंपरिक अनुष्ठानों को भी पहले की तरह जारी रखा जाएगा.

हालांकि अमरनाथ यात्रा को लेकर प्रशासन ने तैयारी कर ली थी. अमरनाथ यात्रा के रूट पर सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था की गई थी. खबर थी कि इस बार सिर्फ बालटाल रूट से अमरनाथ यात्रा कराई जाएगी. हेलीकॉप्टर से यात्रा पर भी विचार किया जा रहा था.

Amarnath Yatra Begins: 21 जुलाई से शुरू हो सकती है अमरनाथ यात्रा, हर रोज 500 श्रद्धालुओं को मिलेंगे बाबा बर्फानी के दर्शन

Mata Vaishno Devi Navratri Pilgrims Record: कई सालों का टूटा रिकॉर्ड, इस नवरात्रि 3.65 लाख भक्तों ने किए मां वैष्णो देवी के दर्शन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर