लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मांडा में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. मांडा में पारिवारिक कलेश के चलते एक महिला और उसके दो बच्चों को जिंदा जला दिया गया. गुरुवार आधी रात पड़ोसियों ने जब मासूमों की चीखे सुनी तो उनका दिल दहल गया. पड़ोसियों के द्वारा मिली जानकारी के बाद पुलिस ने घटना पहुंच कर जांच शुरू की और मृतका की मां से पूछताछ कर ससुराल के खिलाफ दहेज हत्या केस दर्ज कर लिया है. पुलिस ने सास-ससुर, जेठ-जेठानी को हिरासत में भी ले लिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मृतका का पति मुंबई में नौकरी करता था, वह इन दिनों घर आया हुआ था जिस रात इस वारदात को अंजाम दिया गया पति भी घर पर ही था. पुलिस ने बताया कि मृतका अपने 15 दिन के नवजात बच्चे के साथ सो रही थी उस दौरान पति अपने बड़े भाई और भाभी के रूम में था. मृतका के सास ससुर घर के बाहर सोए थे. रात को जब पूरा मोहल्ला सो गया तो घर में ससुराल के पक्ष के लोगों ने बहू व उसके दो बच्चों को जिंदा जलाया.

रात के करीब दो बजे पड़ोसियों ने जब चीखे सुनी तो वह मृतका के घर पहुंचे तो देखा कि घर से धुआं निकल रहा है और अंदर जाकर देखा तो कमरे में चारपाई के नीचे गीता और उसके दोनों बच्चों की जली हुई लाश पड़ी थी. इस घटना से वहां हड़कंप मच गया. इस घटना के बाद मृतका के मां को जब इस घटना की जानकारी दी गई तो उन्होंने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी को दहेज के लिए सताया जा रहा था. मृतका के ससुरालवालों का कहना था कि उसने आत्महत्या की है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि तीनों की मौत जलने से ही हुई है.

बीफ के शक में मॉब लिंचिंग में मारे गए मीट कारोबारी अलीमुद्दीन मर्डर के आरोपियों का जेल से छूटने पर केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने किया स्वागत

बुराड़ी सामूहिक सुसाइड: भाटिया परिवार के 11 लोगों की आत्महत्या में पुलिस ने तांत्रिक गीता को पकड़ा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App