अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) ने जम्मू-कश्मीर के दो छात्रों के निलंबन को रद्द कर दिया. हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी मन्नान वानी के लिए एएमयू परिसर में शोक बैठक आयोजित करने की कोशिश करने के आरोप में तीन छात्रों को निलंबित कर दिया गया था. एएमयू पब्लिक रिलेशन ऑफिसर उमर पीरज़दा ने कहा है कि, हां दो छात्रों के निलंबन को निरस्त कर दिया गया है.

बता दें कि बीते गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों द्वारा ढेर किए दो आतंकियों नें से एक मन्नान बशीर वानी अलीगढ़ एएमयू का स्कॉलर था. उसके मारे जाने की खबर जैसे ही एएमयू के छात्रों को लगी तो कुछ स्टूडेंट ने उसे शहीद घोषित कर दिया. इतना ही नहीं उन्होंने उसके लिए नमाज-ए-जनाजा पढ़ने की कोशिश भी की. जैसे ही प्रशासन को ये खबर मिली तो उन्होंने तीन छात्रों को निलंबित कर दिया था. वहीं अन्य चार को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया था. 

इस मामले के बाद अलीगढ़ के अलगीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के 1200 कश्मीरी छात्रों ने विश्वविद्यालय छोड़ने की धमकी दी थी. मंगलवार को जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने केंद्र सरकार और विश्वविद्यालय से अनुरोध करते हुए कहा था कि वह कश्मीरी छात्रों को परिसर में सुरक्षित शैक्षणिक माहौल उपलब्ध कराए.

उन्होंने बताया कि 3 सदस्यीय समिति गठित की गई थी, मामले के जांच कर रही समिति ने पूरे मामले में देखा. सबूत से निष्कर्ष निकाला गया कि निलंबन उनके काम और आचरण के लिए बड़ी सजा होगी. इसलिए हमने इसे रद्द कर दिया. बता दें कि आतंकवादी मनान वानी के लिए प्रार्थना बैठक आयोजित करने की कोशिश के लिए तीन कश्मीरी छात्रों पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था.

Coimbatore College Suspends Student For Celebrating Bhagat Singhs Birth Anniversary on Campus: कोयम्बटूर जिले के सरकारी कॉलेज में भगत सिंह की जयंती मनाने पर छात्रा सस्पेंड

Kashmir Terrorist Mannan Wani Encounter AMU Prayers: आतंकी मन्नान वानी के लिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में शोकसभा पर मचा बवाल, 3 छात्र निलंबित

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App