UP Election 2022

उत्तरप्रदेश.  UP Election 2022 कानपुर के पुलिस कमिश्नर रहे असीम वरुण के बीजेपी में शामिल होने के बाद समजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बयान जारी किया है. उन्होंने कहा कि वर्दी में कैसे-कैसे लोग छुपे थे. क्या आप लोग पंचायत चुनाव भूल गए. बता दें इससे पहले असीम वरुण ने बीजेपी में शामिल होते ही एक बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि पिछली सरकार में माफिया को छोड़ने के लिए फ़ोन आया करते थे, जिसपर मजबूरन पुलिस को ऐसा करना पड़ता था.

खाकी के बाद खादी में सेवा का अवसर

उन्होंने आगे कहा कि मैं पार्टी के विचारों से जुड़कर आया हूँ, योगी राज में मुझे कभी भी भाजपा कार्यालय से किसी मंत्री और नेता का गुंडे को छोड़ने के लिए फ़ोन नहीं आया, जबकि इससे पहले की सरकार पुलिस पर अपना दबाव बनाती थी. मै प्रसन्न हूं, संतुष्ट हूं, कि मुझे लोकसेवा का मौका मिला है, पहले खाकी वर्दी में रहकर मैंने लोगों की सेवा की है और अब खादी में रहकर मुझे पुनः यह मौका मिल रहा है. उन्होंने बताया कि जब वे एटीएस थे तब, असीम वरुण ने सेकड़ो गुंडों को गिरफ्तार किया था. मैं गावं से जुड़ा हूँ और लोगों की समस्यां, परेशानियाँ मुझे पता है. मेरा परिवार सामजिक कार्य करता आया है और मुझे खुशी है कि यह मौका अब दोबारा मिल रहा है.

दंगाई एसपी में, दंगाइयों को पकड़ने वाले बीजेपी में आते हैं: अनुराग ठाकुर

कानपुर के पुलिस कमिश्नर रहे असीम वरुण के बीजेपी में शामिल होते ही, कार्यक्रम में मौजूद अनुराग ठाकुर ने विपक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि दंगा करने वाले लोग समाजवादी पार्टी में जबकि दंगाइयों को पकड़ने वाले भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रहे है, इससे साफ़ पता चलता है कि विपक्ष की मनसा देश के प्रति क्या है. समजवादी पार्टी के लोग जेल और बेल खेलते है, एक नेता जेल में होता है, तो तब दूसरा बेल पर होता है.

यह भी पढ़ें :-

Cute Look Entertainment : डिजिटल युग में धूम मचाने आ रहा है “टच का फोन”, सुनने वालों ने कहा वाह

Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana : कोरोना से मौत पर भी नॉमिनी को मिलेगा रुपया

SHARE