मैनपुरी. उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में शुक्रवार को बहुजन समाजपार्टी और समाजवादी पार्टी ने महापरिवर्तन रैली की, जिसमें 24 साल बाद मायावती और मुलायम सिंह यादव एक मंच पर नजर आए. इस रैली में मायावती और अखिलेश यादव ने भाजपा और पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला. अखिलेश यादव ने कहा कि देश इस वक्त नाजुक दौर से गुजर रहा है. इस देश के किसान और खेती हमारी आत्मा हैं. किसान दुखी हैं. ग्रामीणों के साथ धोखा हुआ है.

सत्ताधारी भाजपा पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि युवाओं के लिए रोजगार खत्म हो गए हैं. यह चुनाव देश के दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यकों के भाग्य के लिए है. यूपी के पूर्व सीएम ने कहा, भाजपा वाले कहते हैं कि हमें नया भारत बनाना है और हम कहते हैं कि हमें नया प्रधानमंत्री बनाना है. अखिलेश यादव ने कहा, मैं मायावती को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने नेताजी (मुलायम सिंह यादव) को जिताने की अपील की. देश की सबसे बड़ी जीतों में मैनपुरी से नेताजी की जीत होनी चाहिए. दिल्ली को सपा-बसपा ने एक्सप्रेस वे बनाकर आपके और करीब कर दिया. 

हालांकि मैनपुरी रैली में सपा-बसपा गठबंधन में शामिल आरएलएडी सुप्रीमो अजीत सिंह नजर नहीं आए. यूपी में सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रहे हैं. यूपी की 80 लोकसभा सीट में से सपा 37, बसपा 38 और आरएलडी 3 सीट पर चुनाव लड़ रही है. महापरिवर्तन रैली में मायावती ने भी भाजपा पर हमला बोला.

 उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव पीएम नरेंद्र मोदी की तरह नकली या फर्जी पिछड़े वर्ग के नहीं हैं. उन्होंने कहा कि आप लोग 1995 के गेस्ट हाउस कांड से जुड़े सवाल पूछेंगे. लेकिन देशहित में कभी-कभी कड़े फैसले लेने पड़ते हैं. देशहित में सपा-बसपा का गठबंधन हुआ है.  मायावती ने कहा कि भीड़ देखकर लग रहा है कि आप मुलायम सिंह यादव को रिकॉर्ड बहुमत सिंह यादव से जिताएंगे. बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी की कोई नाटकबाजी और जुमलेबाजी काम नहीं आएगी. चौकीदारी का नया नाटक भी इनको बचा नहीं पाएगी. 

उन्होंने कहा, पिछले लोकसभा के आम चुनावों में उन्होंने देश की जनता का कई तरह का प्रलोभन दिया था. उन्होंने 100 दिनों के अंदर कालाधन वापस लाकर पूरे देश के हर गरीब को 15-20 लाख रुपये आर्थिक मदद के रुपये में दिए जाएंगे. मैं मैनपुरी के लोगों से पूछना चाहता हूं कि पिछले 5 साल में किसी को 15 लाख मिले क्या.

RLD Chief Ajit Singh Escape Maha Parivartan Rally: मैनपुरी में मायावती, मुलायम सिंह, अखिलेश यादव की महापरिवर्तन रैली में नहीं दिखे आरएलडी सुप्रीमो अजीत सिंह

Mayawati Mulayam Singh Yadav Mainpuri Rally: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह मुलायम सिंह यादव नकली ओबीसी नहीं: बसपा सुप्रीमो मायावती

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App