भोपाल: नगर निगम के कर्मचारियों के साथ मारपीट के आरोप में इंदौर कोर्ट ने बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और विधायक आकाश विजयवर्गीय को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. बेल निरस्त होने के बाद आकाश विजयवर्गीय के समर्थकों ने कोर्ट के बाहर जमकर हंगामा किया जिसके बाद पुलिस ने उन्हें पीछे खदेड़ दिया. जानकारी के मुताबिक आकाश विजयवर्गीय जमानत के लिए गुरुवार को ऊपरी अदालत में याचिका दाखिल करेंगे. आकाश विजयवर्गी के खिलाफ धारा 353, 294, 506, 147, 148 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इंदौर तीन से विधायक आकाश विजयवर्गीय की निगम कर्मचारियों से झड़प उस वक्त हुई जब वो गंजी कंपाउंड स्थित एक पुराने मकान को तोड़ने पहुंचे थे. इस दौरान आकाश पहुंचे और निगम कर्मचारियों को धमकी दी कि अगर वो पांच मिनट में वहां से नहीं निकले तो जो कुछ होगा उसकी जिम्मेदारी उनकी होगी. इसके बाद आकाश ने जेसीबी मशीन की चाभी निकाल ली और हाथ में क्रिकेट का बैट लेकर निगम कर्मचारियों को पीटना शुरू कर दिया. आकाश विजयवर्गीय का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

जानकारी के मुताबिक नगर निगम के जोनल अधिकारी धीरेंद्र बायस ने बताया है कि आकाश विजयवर्गीय और उनके कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज करा दिया गया है. उनपर ड्यूटी पर मौजूद सरकारी कर्मचारी के साथ मारपीट करने और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने का आरोप है. इस मामले पर मध्य प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चा ने कहा है कि आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि कोई कितना भी बड़ा नेता हो लेकिन कानून को हाथ में लेगा तो कानून अपना काम करेगा.  

Kailash Vijayvargiya Son Akash Thrases Indore Municipal Officer Video: इंदौर में बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश की खुली गुंडागर्दी, क्रिकेट बैट से की नगर निगम के अधिकारियों की पिटाई, वीडियो वायरल

Rahul Gandhi Rigid To Resign Congress President: कांग्रेस के 51 सांसदों ने मनाया, यूथ कांग्रेस ने नारेबाजी की लेकिन नहीं माने राहुल गांधी, कोई और होगा कांग्रेस अध्यक्ष

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App