आगराः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ फेसबुक पर अभद्र टिप्पणी करने शख्स को आगरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. शुरूआती जांच के बाद पुलिस ने खुलासा किया कि असद खान के नाम से सीएम योगी के खिलाफ लिखने वाला युवक असल में विनीत प्रताप सिंह निकला. आरोपी ने असद खान के नाम से फेसबुक पर फर्जी प्रोफाइल बनाई थी.

आगरा पुलिस ने बताया कि आरोपी के पास से मोबाइल फोन भी बरामद किया गया है. इसी मोबाइल से वह फर्जी फेसबुक प्रोफाइल चलाता था. पुलिस ने आईटी एक्ट की धाराओं के तहत सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है. विनीत सिंह से पूछताछ कर रही है. पुलिस का कहना है कि इस मामले में शामिल अन्य आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. बतातें चलें कि बीती 11 जुलाई को कथित तौर पर असद खान की फेसबुक प्रोफाइल से सीएम योगी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की गई थी.

असद की फेसबुक पोस्ट को तमाम लोगों ने शेयर किया. आपत्तिजनक पोस्ट की शिकायत मिलने के बाद आगरा पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया. आईपी एड्रेस ट्रैक करते हुए पुलिस असद खान तक पहुंच गई. जांच में पता चला कि असद खान का असली नाम वी.पी. सिंह है और वह मास कम्युनिकेशन की पढ़ाई कर रहा है. वी.पी. सिंह असद नाम से फर्जी प्रोफाइल बनाकर सीएम के खिलाफ पोस्ट कर रहा था.

जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने बताया कि विनीत अच्छे परिवार से ताल्लुक रखता है. उसने नफरत फैलाने के मकसद से यह पोस्ट किया था. गौरतलब है कि यूपी पुलिस इन दिनों सोशल मीडिया पर खासा नजर बनाए हुए है. पुलिस व्हाट्सएप, फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट, तस्वीरों और वीडियो की बारीकी से जांच कर रही है और इस तरह के मामले सामने आने पर तत्काल कार्रवाई कर रही है.

योगी आदित्यनाथ के चरणों में दिखा पुलिस ऑफिसर तो लोग बोले- वर्दी की इज्जत लुटा दी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App