July 15, 2024
  • होम
  • Ghulam Nabi Azad: कांग्रेस से इस्तीफे के बाद गुलाम नबी बोले- 'कश्मीर में बनाऊंगा अपनी पार्टी'

Ghulam Nabi Azad: कांग्रेस से इस्तीफे के बाद गुलाम नबी बोले- 'कश्मीर में बनाऊंगा अपनी पार्टी'

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : August 26, 2022, 2:26 pm IST

Ghulam Nabi Azad:

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने आज कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया। वे लगभग पांच दशक तक कांग्रेस पार्टी में थे। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पांच पन्नों का पत्र लिखकर अपना इस्तीफा सौंपा है। इसी बीच गुलाम नबी आजाद का बड़ा बयान सामने आया है। एक निजी टीवी चैनल से बात करते हुए आजाद ने कहा है कि वो कश्मीर में अपनी नई पार्टी की स्थापना करेंगे।

नई पार्टी बनाएंगे आजाद

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद गुलाम नबी आजाद ने अपने समर्थकों से कहा है कि वो कश्मीर आ रहे है। कश्मीर में उनके कई पुरान दोस्त हैं, जिनसे वो मुलाकात करेंगे। इसके साथ ही आजाद ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि वो जम्मू-कश्मीर में अपनी नई राजनीतिक पार्टी बनाएंगे।

इस्तीफे में लिखी ये बड़ी बातें…

राहुल गांधी को लेकर जताई नाराजगी

गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे गए अपने पांच पन्नों के इस्तीफे में राहुल गांधी को लेकर नाराजगी जताई है। उन्होंने लिखा है कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने आस-पास अनुभवहीन लोगों को रखा हुआ है और वरिष्ठ नेताओं को साइडलाइन कर दिया है।

बता दें कि कांग्रेस नेता और वायनाड लोकसभा सीट से सांसद राहुल गांधी पर पहले भी कई नेताओं ने पार्ट टाइम पॉलिटिशियन होने के आरोप लगाएं हैं। इससे पहले हार्दिक पटेल और हिमंत बिस्वा सरमा ने भी राहुल पर समय न देने का आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्तीफा दिया था।

पहले कांग्रेस जोड़ो यात्रा करनी चाहिए

सोनिया गांधी को लिखे पत्र में गुलाम नबी आजाद ने आगे लिखा है कि अखिल भारतीय कांग्रेस को चलाने वाली राष्ट्रीय कार्यसमिति ने अपनी क्षमता और इच्छाशक्ति खो दी है। उन्होंने आगे लिखा है कि पार्टी को भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने से पहले कांग्रेस जोड़ो यात्रा शुरू करनी चाहिए।

राहुल ने पार्टी के तौर-तरीके खत्म किए

गुलाम नबी आजाद ने अपनी चिट्ठी में आगे लिखा है कि जब से राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया, उन्होंने कांग्रेस के कार्य करने के तौर तरीकों को पूरी तरह खत्म कर दिया। राहुल गांधी का मीडिया के सामने अध्यादेश फाड़ना उनकी राजनीतिक अपरिवक्ता को दिखाता है।

संगठन में किसी स्तर पर नहीं हुआ चुनाव

आजाद ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद पर चुनाव न कराने को लेकर गांधी परिवार को निशाने पर लिया है। उन्होंने लिखा है कि पिछले कई सालों से संगठन में किसी स्तर पर कहीं भी चुनाव नहीं हुआ है। इसके साथ ही आजाद ने ये भी आरोप लगाया है कि जिन कांग्रेस नेताओं ने पार्टी की कमजोरियों को बताया उन सभी को अपमानित किया गया है।

बिहार में अपना CM चाहती है भाजपा, नीतीश कैसे करेंगे सियासी भूचाल का सामना

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन