श्रीनगर. भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व जम्मू कश्मीर विधानसभा अध्यक्ष निर्मल सिंह ने पीडीपी की महबूबा मुफ्ती पर निशाना साधा. मंगलवार को बीजेपी ने पीडीपी की महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन वापस ले लिया. जिसके बाद बीजेपी की तरफ से कई प्रतिक्रिया सामने आ चुकी है. इसी क्रम में पूर्व डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने कहा कि राज्य में उनके कार्यकाल में शांति भंग कर दी है. उनके कार्यकाल में आतंकी गतिविधियां बढ़ गई थी और वह अफ्सा कानून हटाना चाहती थी लेकिन बीजेपी उनके प्रेशर में नही आई.

निर्मल सिंह ने कहा कि भाजपा ने उन्हें कई बार सीजफायर का शांति का मौका दिया था लेकिन जो इंसानियत के दुश्मन, पाक समर्थित थे वे नहीं माने. इस वजह से समर्थन वापिसी का फैसला लिया गया. आगे उन्होंने कहा कि अब आतंक से सख़्ती से निपटा जायेगा. 370 पर हमने पहले ही साफ कर दिया था कि हम एजेंडा में व संविधान के अनुसार ही करेंगे. महबूबा अफ्सा कानून हटाना चाहती थी लेकिन बीजेपी उनके प्रेशर में नही आई

निर्मल सिंह ने कहा कि पत्थरबाजों पर केस वापिस लेने का फैसला शान्ति बहाली के तहत लिया गया था. लेकिन जिन्होंने बंदूक़ पकड़ी थी, उनके वैसा ही जबाव दिया गया. प्रधानमंत्री मोदी किसी के दबाव में नही आते चीन जैसे देश के सामने जैसे डोकलाम हुआ. मुझे नही लगता है कि उसके देखते हुये वे किसी दवाब में काम करेंगे. जम्मू-कश्मीर पूरे देश के लिये प्रायोरिटी है इसलिये पाक समर्थित आतंकियों से सख़्ती से निपटने के लिये ये कदम उठाना होगा.

TDP विधायक के बिगड़े बोल, पीएम नरेंद्र मोदी पर की विवादित टिप्पणी, बीजेपी ने कहा- दिमाग का इलाज कराएं

BJP- PDP गठबंधन टूटने पर बोले कपिल सिब्बल- अवसरवादी भाजपा, केजरीवाल ने कहा- बर्बाद कर दिया कश्मीर

बीजेपी-पीडीपी गठबंधन वाली महबूबा मुफ्ती सरकार गिरने के जम्मू कश्मीर में लगा राज्यपाल शासन, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दी मंजूरी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App