नई दिल्ली. अगर आप सोशल मीडिया WhatsApp और फेसबुक पर अधिक समय बिताते हैं तो ये खबर आपके लिए ही है. सोशल मीडिया पर ब्लू वेल गेम के बाद अब मोमो चैलेंज नाम का जानलेवा गेम बड़ी तेजी से लोगों के बीच वायरल हो रहा है. दरअसल मोमो चैलेंज नाम या ये खतरनाक गेम बेहद खतरनाक है. यह वॉट्सऐप के जरिए लोगों तक पहुंच रहा है. अगर आपके फोन में कोई अज्ञात नंबर आता है तो उसे मोबाइल फोन में सेव न करें. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अर्जेंटीना में पिछले दिनों एक 12 साल की लड़की ने आत्महत्या कर ली है.

खुदकुशी करने से पहले उसने एक वीडियो रिकॉर्ड किया था. पुलिस की जांच में पता चला है कि उसे सुसाइड करने के लिए उकसाया गया. पुलिस का कहना है कि 12 साल की मासूम बच्ची के मोबाइल को हैक किया गया था. बता दें कि इससे ब्लू व्हेल गेम के चलते पूरी दुनिया भर में कई लोगों की जान गई थी.

मोमो चैलेंज में सबसे पहले यूजर को अज्ञात नंबर मिलता है, जिसे सेव कर हाय-हैलो करने का चैलेंज दिया जाता है. इसके बाद फिर उस अज्ञात नंबर पर बात करने का चैलेंज दिया जाता है. हाय-हैलो करने के बाद यूजर को उस अंजान नंबर से डरावनी तस्वीरें और वीडियो आने लगती हैं. इसके बाद फिर यूजर को कुछ काम दिए जाते हैं, जिसे पूरा नहीं करने यूजर को डांटा और धमकाया जाता है. मोमो की बात में आकर यूजर डिप्रेशन का शिकार हो जाता है. मोमो की धमकी से डरकर यूजर खुदकुशी करने पर मजबूर हो जाता है.

मोमो चैलेंज लेने वालों में अधिकतर बच्चे और नौजवान होते हैं. मोमो चैलेंज के जरिए निजी जानकारी लेने के बाद इसके पीछे छूपे लोग उनके परिजन को ब्लैकमेल करने और फिरौती मांगने में भी इस्तेमाल करते हैं. कुछ मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मोमो जापान से ताल्लुक रखती हैं. मोमो चैलेंज गेम के लिए जो डरावनी फोटो इस्तेमाल की जा रही है, उसे जापानी कलाकार मिदोरी हायाशी ने बनाया था. हालांकि हायाशी का इस डरावने गेम से कोई लेना-देना नहीं है.

इस तरह जानिए आपने Facebook और Instagram पर गुजारा कितना समय

अमेरिका: कोर्ट में चुप नहीं हो रहा था आरोपी तो जज ने दिया मुंह पर टेप लगाने का आदेश

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App