नई दिल्ली. भारत को दुनिया के सबसे अमीर देशों में छठा स्थान मिला है. भारत के पास 559 लाख करोड़ रुपए यानि 8, 230 अरब डॉलर से ज्यादा दौलत है. अफ्रएशिया बैंक ग्लोबल वेल्थ माइग्रेशन रिव्यू ने यह लिस्ट जारी की है. लिस्ट के मुताबिक, दुनिया का सबसे अमीर देशों की लिस्ट में पहले स्थान पर है. अमेरिका की कुल संपत्ति 42.54 लाख अरब रूपए यानि 584 अरब डॉलर से ज्यादा है. वहीं 24,803 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ चीन दूसरे नंबर पर और 19, 533 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ जापान तीसरे पायदान पर है.

गौरतलब है कि देश में रहने वाले लोगों की की व्‍यक्तिगत तौर पर दौलत ही हर किसी देश की कुल संपत्ति दर्शाती है. लायबिलिटी को हटाकर इसमें बिजनेस इंट्रस्‍टेस, प्रॉपर्टी, कैश और इक्विटीज समेत बाकि सभी एसेट्स शामिल होते हैं. इन आंकड़ों में सरकारी फंड को शामिल नहीं किया जाता है. दुनिया के टॉप 10 देशों की लिस्ट में चौथे पायदान पर 9,919 अरब डॉलर के साथ ब्रिटेन है. जबकि 9,660 अरब डॉलर के साथ जर्मनी पांचवे और 6,142 अरब डॉलर के साथ सांतवे स्थान ऑस्‍ट्रेलिया काबिज है. वहीं 6,393 अरब डॉलर कि कुल संपत्ति के साथ कनाडा आंठवे नंबर पर है. फ्रांस नौंवे नंबर पर है जिसकी दौलत 6,649 अरब डॉलर है और 10वें स्थान पर इटली है जिसकी कुल संपत्ति 4,276 अरब डॉलर है.

अफ्रएशिया बैंक ग्लोबल वेल्थ माइग्रेशन रिव्यू की रिपोर्ट के अनुसार, भारत की आय बढ़ाने में यहां का बेहतर एजुकेशन सिस्‍टम, तेजी से बढ़ रहा आईटी सेक्टर, रियल स्टेट, मीडिया, बीपीओ और हेल्थ केयर सेक्टर की ओर से ज्यादा मदद मिल रही है. माना जा रहा है कि अगले 10 सालों में भारत की संपत्ति पहले से करीब 200 फीसदी बढ़ जाएगी. रिपोर्ट के मुताबकि, अगले 10 सालों में भारत दुनिया का चौथा सबसे अमीर देश बन जाएगा. बता दें कि पूरे विश्व की कुल संपत्ति करीब 15000 अरब डॉलर हो गई है.

मोदी राज में अब तक का सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल, दिल्ली में तोड़ा सितंबर 2013 का रिकॉर्ड

देश के इन राज्यों के एटीएम और बैंक में कैश की किल्लत, जनता कर रही त्राहिमाम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर