नई दिल्ली. रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट फैसले को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पूरी तरह से सजग और सतर्क है. अयोध्या की सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में फोर्स तैनात किया जा चुका है. यूपी प्रशासन ने मॉनीटरिंग के लिए सुपर कॉप और जाबांज अधिकारी आशुतोष पांडेय को अयोध्या की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी है. देश के वारिष्ठ आइपीएस अधिकारी और एडीजी अभियोजन आशुतोश पांडेय को सिक्योरिटी को बेहतर ढ़ंग से क्रियान्वन कराने के लिए अयोध्या भेजा गया है. वह अयोध्या में रहकर स्थानीय ऑफिसरों का मार्गदर्शन करेंगे.

वारिष्ठ आइपीएस आशुतोष पांडेय 1992 बैच के अधिकारी हैं. आइपीएस पांडेय मूलत: बिहार के भोजपुर जिला के रहने वाले हैं. इन्होंने सिविल इंजनियरिंग की पढ़ाई की है. वारिष्ठ आइपीएस पांडेय बारे में कहा जाता है कि ये जहां भी जाते हैं, वहां के लोगों के साथ जमीनी स्तर पर काफी मजबूत संपर्क स्थापित कर लेते हैं. जिससे पुलिस और आम आदमी के बीच काफी अच्छा समन्यव बन जाता है. आशुतोष पांडेय को जमीन से जुड़ा हुआ अधिकारी माना जाता है. आइपीएस आशुतोष पांडेय को लोग सुपर कॉप के नाम से जानते हैं.

वारिष्ठ आइपीएस अधिकारी आशुतोष पांडेय पूर्व में अयोध्या में एसएसपी रह चुके हैं. बताया जाता है कि जिस समय आशुतोष पांडेय अयोध्या में कार्यरत थे, तब औचक निरिक्षण पर निकल जाते थे. जिसके वजह से सभी थानों के अधिकारी हमेशा सतर्क रहते थे. जाने कब आशुतोश पांडेय उनके थाने पर पहुंच जाएं. इससे अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था में कोई चूक नहीं होती थी.

Also read, ये भी पढ़े- Maharashtra Government Formation Or President Rule LIVE Updates: महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी-शिवसेना में तनातनी, राष्ट्रपति शासन लगने का मंडरा रहा खतरा

Ayodhya Verdict Countdown Latest LIVE Updates: सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के साथ यूपी के मुख्य सचिव और डीजीपी की बैठक खत्म, डेढ़ घंटे चली मीटिंग, जस्टिस एस ए बोबडे और जस्टिस अशोक भूषण भी थे शामिल

आईपीएस पांडे अयोध्या के रग-रग से वाकिफ हैं. वे बुधवार को ही अयोध्या पहुंच चुके हैं. स्थानीय पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ उनकी प्रथम चरण की बैठक संपन्न हो चुकी है. सिक्योरिटी प्लान का अध्ययन एडीजी की ओर से किया जा रहा है.

पिछले साल 25 नवंबर को अयोध्या में विहिप की धर्मसभा व शिवसेना के कार्यक्रम को लेकर सरकार के सामने जब सुरक्षा की चुनौती खड़ी हुई थी, तो यूपी प्रशासन ने आशुतोष पांडेय को यहां भेजा था. आशुतोष पांडेय एडीजी टेक्निकल के पद थे. उनकी और झांसी के डीआइजी सुभाष सिंह बघेल की जोड़ी विहिप और शिवसेना के कार्यक्रम को संपन्न कराने में कारगर साबित हुई थी

 

Also read, ये भी पढ़े- PM Narendra Modi Advice to Ministers: पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों को दी सलाह- अयोध्या पर अनावश्यक बयानों से बचें, सद्भाव बनाए रखें

Ayodhya Ram Mandir Babri Masjid Verdict date: अयोध्या रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद फैसले से पहले 2 हेलीकॉप्टर किसी भी इमरजेंसी के लिए तैयार

Supreme Court DoT Telecom Companies 92 Thousand Crore Rupees: सुप्रीम कोर्ट से एजीआर पर सरकार को राहत, टेलीकॉम कंपनियों को 92 हजार करोड़ का झटका, दूरंसचार विभाग को एयरटेल 21 हजार करोड़, वोडाफोन आयडिया 10 हजार करोड़ देगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App