जयपुरः राजस्थान के जयपुर में एक सूटकेस में मिली लाश की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है. इस कत्ल को मशहूर क्राइम गर्ल प्रिया सेठ ने अपने साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था. प्रिया और उसके साथियों दीक्षांत कामरा और लक्ष्य वालिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. प्रिया ने एक इंटरव्यू में अपना जुर्म कबूल किया. उसने बताया कि वह दुष्यंत शर्मा (मृतक) से डेटिंग ऐप टिंडर के जरिए मिली थी.

प्रिया ने बताया कि दुष्यंत से टिंडर पर उसकी दोस्ती हो गई. दोस्ती के बाद यह सिलसिला मुलाकातों में तब्दील हो गया और फिर मुलाकातों का दौर यूं चला कि दुष्यंत प्रिया के प्यार की गिरफ्त में आ गया. प्रिया उसे अपने हुस्न के जाल में फंसा चुकी थी. दुष्यंत और प्रिया ने कई बार शारीरिक संबंध बनाए थे. प्रिया ने पैसे ऐंठने की नीयत से इसका वीडियो बना लिया. वीडियो वायरल करने की धमकी देकर वह दुष्यंत से रकम ऐंठने लगी.

प्रिया ने जुर्म कबूल करते हुए बताया कि उसे तो ठीक से उसका (दुष्यंत) नाम भी याद नहीं. वह उसे टिंडर पर मिला था. उसने गलत नाम और गलत पहचान बताई थी. वह कह रहा था कि वह बहुत पैसे वाला है. प्रिया ने कहा, ‘मैं दीक्षांत के साथ रह रही थी, उसके ऊपर 21 लाख रुपए का कर्ज था. उसे कोई ऐसा बंदा चाहिए था जिससे पैसे आ सकें. फिर हमने प्लान बनाया कि किसी को किडनैप कर फिरौती मांग उसका मर्डर कर देंगे.’

प्रिया ने कहा, ‘दुष्यंत जब मिला तो उसने बताया था कि वो बहुत पैसे वाला है. हमने उसी को किडनैप कर लिया और फिरौती मांगी लेकिन बाद में हमें पता चला कि उसके पास कुछ नहीं है.’ जब प्रिया से पूछा गया कि उसके पिता ने तीन लाख रुपये दुष्यंत के अकाउंट में जमा करा दिए थे तो फिर आपने उसे क्यों मारा. जवाब में प्रिया ने बताया कि वह पैसे मिलने से पहले ही वह लोग दुष्यंत को मार चुके थे.

प्रिया ने कत्ल की बात कबूलते हुए कहा कि उन्होंने गला घोंटकर दुष्यंत को मारने की कोशिश की लेकिन वह नहीं मरा. फिर उसके बाद दीक्षांत ने चाकू से उसका गला काट दिया. प्रिया यह भी कबूलती है कि वह अपने एक्स बॉयफ्रेंड को मारना चाहती थी लेकिन उसे नहीं मार पाई. जिस चाकू से दुष्यंत का कत्ल किया गया वह प्रिया अपने हाथ की नस काटने के लिए लेकर आई थी.

दूसरी ओर दीक्षांत का कहना है कि उसने दुष्यंत को नहीं मारा, दुष्यंत का कत्ल प्रिया ने किया था. वह अपना बयान दर्ज करा चुका है. पुलिस गिरफ्त में तीसरा आरोपी लक्ष्य भी यही बात कह रहा है कि ये प्लान 70 फीसदी प्रिया का था तो 30 फीसदी दीक्षांत का. वह लोग दुष्यंत को मारना नहीं चाहते थे लेकिन प्रिया ने पकड़े जाने की बात कहकर उन्हें डरा दिया और फिर उसे चाकू से मार डाला.

प्रिया ने बताया कि वह एस्कॉर्ट सर्विस मुहैया कराने के नाम पर अब तक 1000 से ज्यादा लोगों को ठग चुकी है. प्रिया कहती है कि वह समाजसेवा करती थी. ऐसे लोग जो अपनी बीवियों से बेवफाई कर रहे थे, वह उन्हें ठग कर उन्हें सबक सिखाती थी. दुष्यंत के मर्डर के बाद दोपहर में उसकी लाश को सूटकेस में बंद करके फेंक दिया था. शाम को एक बार फिर वह अपने शिकार की तलाश में निकल गई थी.

23 जनवरी, 2018 को गजराज सिंह नामक शख्स ने भी प्रिया के खिलाफ पुलिस में शिकायत दी थी कि वह उसे ब्लैकमेल कर रही है. प्रिया और गजराज लिव-इन रिलेशनशिप में दिल्ली में रहे थे. गजराज ने शिकायत में बताया कि प्रिया उससे 10 लाख रुपए मांग रही थी. पैसे न देने पर वह उसे झूठे रेप केस में फंसाने की धमकी दे रही थी. पुलिस ने जांच में गजराज के आरोप सही पाए और 7 मार्च, 2018 को उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

झोटवारा पुलिस स्टेशन के SHO भूपेंद्र सिंह ने बताया कि 2 मई की रात दुष्यंत अपने घर से निकला था. फिर उसका फोन स्विच ऑफ हो गया. दुष्यंत को प्रिया और उसके साथियों ने अगवा कर लिया था और वह उसके परिवार से अब फिरौती वसूलना चाहते थे. कुछ देर बाद दुष्यंत के फोन से उसके परिजनों को फोन किया गया. दुष्यंत की बात कराई गई तो उसने कहा, ‘पापा इनको 10 लाख रुपए दे दो वरना ये मुझे मार देंगे.’ दुष्यंत के पिता कहते हैं कि यह लोग अगर जमानत पर छूटेंगे तो फिर किसी दुष्यंत को अपना शिकार बनाएंगे. वह चाहते हैं कि इन्हें फांसी की सजा मिले.

दिल्लीः शादीशुदा युवक ने नहीं उठाया फोन तो प्रेमिका ने कर लिया उसके बच्चे को अगवा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App