नई दिल्ली. अफगानिस्तान में चल रहे संकट के बीच तालिबान का उपनेता मुल्‍ला अब्‍दुल गनी बरादर  कतर से अपने संगठन के गढ़ रहे कंधार शहर पहुंच गया है. इस दौरान एयर पोर्ट पर तालिबानी आतंकियों ने उसका जोरदार स्‍वागत किया. इसके बाद बरादर का पूरा काफिला शहर से ऐसे रवाना हुआ मानो वह राष्ट्रपति हो. कयास है कि बरादर ही अफगानिस्तान का अगला राष्ट्रपति होगा. इस दौर में सबसे बुरा हाल वहां की महिलाओं का है. डरी सहमी घरों में कैद हैं, बाजार बंद हैं, सिर्फ बुर्के की दुकानें खुली हैं.

तालिबानियों का इतना खौफ है कि महिलाएं जान जोखिम में डालकर बुर्का खरीदने पहुंच रही हैं, दुकानों पर भीड़ लगी हैं और बुर्के की कीमत दस गुनी बढ़ गई है. उधर वहां के प्रथम उप राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने अफगानिस्तान के संविधान के मुताबिक अपने को राष्ट्रपति घोषित कर लिया है और तालिबान को खुली चुनौती दी है. वह अफगानिस्तान में ही हैं और नादर्न एलायंस के साथ तालिबान को चुनौती देने की योजना बना रहे हैं. उन्हें कबीलों के कई ग्रुप्स का समर्थन प्राप्त है जो तालिबान से लड़ता आया है.

Afghanistan Crisis: काबुल में पहली बार बोला तालिबान, कहा- सबको देंगे आम माफी और महिलाओं को अधिकार

Collegium Recommendation: देश को 2027 में मिल सकती हैं जस्टिस बीवी नागरत्ना के रूप में पहली महिला CJI, कॉलेजियम ने 9 नामों की सिफारिश भेजी