नई दिल्लीः नोएडा के आरुषि- हेमराज हत्याकांड मामले में तलवार दंपति राजेश और नुपुर तलवार की रिहाई को हेमराज की पत्नी खुमकला बंजाडे ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. खुमकला बंजाडे ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका दाखिल की है. सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिका में खुमकला का कहना है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट का आदेश गलत है. हाईकोर्ट ने इसे हत्या माना है लेकिन किसी को दोषी नहीं ठहराया. ऐसी स्थिति में जांच एजेंसियों की जिम्मेदारी बनती है कि असली हत्यारों का पता लगाएं

बता दें कि 9 साल पुरानी हत्याकांड में तलवार दंपति 13 अक्टूबर को बरी हुए थे. उसके पहले गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट ने दोनों को बेटी आरुषि और नौकर हेमराज की हत्या का दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी. तलवार दंपति तब से डासना स्थित जेल में बंद थे. तलवार दंपति ने इस सीबीआई कोर्ट के फैसले के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी.

बता दें 16 मई 2008 को दिल्ली से सटे नोएडा के जलवायु विहार स्थित डॉ. राजेश तलवार के घर में उनकी 14 साल की बेटी आरुषि की हत्या कर दी गई थी. आरुषि की हत्या किसी धारदार हथियार से गला रेत कर की गई थी. इस मामले में करीब साढ़े पांच साल सुनवाई चलने के बाद सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने तलवार दंपति को दोषी करार देते हुए और सजा सुनाई थी. मीडिया में ये मामला लंबे वक्त तक चर्चा में रहा था. आरुषि के हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ने के लिए देशभर में लोगों ने सड़को पर उतर कर प्रदर्शन भी किया था. आरुषि-हेमराज हत्याकांड के समय उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने इस मामले की गंभीरता देखते हुए इसकी जांच सीबीआई को सौंपी थी.

ये भी पढ़ें- बिहार के सुपौल जिले के IAS अधिकारी जितेंद्र झा की मौत का रहस्य गहराया, परिवार ने लाश पहचानने से किया इनकार

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App