मुंबई. Aarey Forest Protest Highlights: महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई की आरे कालोनी में मेट्रो परियोजना के तहत काटे जा रहे पेड़ों को लेकर पर्यावरण कार्यकर्ता और आम लोगों का विरोध प्रदर्शन जारी है. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई को छात्रों के एक समूह ने चिट्ठी लिखकर इस मामले में हस्तक्षेप की अपील की थी. अब सुप्रीम कोर्ट की 2 जजों की स्पेशल बेंच इस मामले की सुनवाई सोमवार सुबह 10 बजे करेगी. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में दशहरा की छुट्टी चल रही है लेकिन छात्रों के पत्र पर कोर्ट ने सुओ मोटो एक्शन लेते हुए इसे जनहित याचिका मानते हुए सुनवाई का फैसला किया है. वहीं जंगल की कटाई के खिलाफ प्रोटेस्ट कर रहे लोगों को पुलिस ने  दोबारा प्रोटेस्ट न करने की शर्त पर रिहा कर दिया है.  लोगों को रोकने के लिए आसपास के इलाकों में धारा 144 लागू की गई है.

सरकार की इस परियोजना के तहत अभी तक 800 पेड़ काटे जा चुके हैं जबकि 1800 पेड़ अभी काटे जाने हैं. महाराष्ट्र की देवेंद्र फड़णवीस सरकार मेट्रो शेड के निमार्ण कार्य के लिए पेड़ की कटाई कराना चाहती है. रविवार दोपहर छात्रों का एक प्रतिनिधिमंडल चीफ जस्टिस रंजन गोगोई से मुलाकात करेगा. मुंबई मेट्रो रेल निगम लिमिटेड ने शुक्रवार की रात पेड़ों की कटाई का काम शुरू कर दिया है. शिवसेना चीफ के उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे भी खुलकर पेड़ कटने के विरोध में आ गए हैं. साथ ही बॉलीवुड से भी पेड़ों की कटाई रोकने के लिए विरोध में भरपूर समर्थन मिल रहा है.

पेड़ों की कटाई पर रोक लगाने के संबंध में इससे पहले भी बंबई हाईकोर्ट में कई पर्यावरणविद याचिकाएं दाखिल कर चुके हैं. लेकिन हाईकोर्ट ने पेड़ों की कटाई को रोकने वाली सभी याचिकाएं खारिज कर दी है. जिसके बाद सरकार ने कटाई का काम शुरू करने का आदेश दिया. लोगों के विरोध के कई फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं जिसमें वे पेड़ों से चिपके नजर आ रहे हैं. इन फोटो को देखकर चिपको आदोंलन की याद आ रही है.

धीरे धीरे मामला राजनीतिक तूल भी पकड़ रहा है. शनिवार को कांग्रेस नेता संजय निरुपम और शिवसेना की प्रियंका चतुर्वेदी पेड़ों की कटाई के विरोध में सड़कों पर कार्यकर्ताओं के साथ नजर आए. विधानसभा चुनाव के माहौल में कोई भी पार्टी मुद्दे पर कमजोर नहीं पड़ना चाहती है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि जब वे सत्ता में आएंगे तो वे उन सभी लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे जो पेड़ों की हत्या के लिए जिम्मेदार हैं. उद्धव ठाकरे ने कहा कि आने वाली सरकार उनकी होगी और एक बार उनकी सरकार आ गई तो जंगलों के हत्यारों को सही तरीके से निपटेंगे.

Aarey Forest Protest Chipko Movement: क्या चिपको आंदोलन की तर्ज पर मुंबई के आरे फॉरेस्ट को बचा सकेगा जनता का विरोध, जानें भारत में हुए ऐतिहासिक पर्यावरण संरक्षण आंदोलनों के बारे में

Priyanka Gandhi Vadra Attacks UP Yogi Govt: बिजली चोरी के 81 हजार रुपये बिल नहीं चुकाने पर यूपी के बदायूं में 11 दिन हिरासत में रहे किसान की मौत, पूर्वी यूपी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला

Highlights

सुप्रीम कोर्ट का आदेश- कोई हिरासत में है तो जल्द करें रिलीज, महाराष्ट्र सरकार ने दिलाया भरोसा

सुप्रीम कोर्ट ने आरे मामले में आदेश लिखवाना शुरू किया. कोर्ट ने कहा महाराष्ट्र सरकार ने कोर्ट को भरोसा दिया कि अगले आदेश तक वो पेड़ नही काटेंगे. उनकी बात को रेकॉर्ड पर रखा जाता है. कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को कहा कि अगर इस मामले में कोई हिरासत में है तो उसे तुरंत रिहा किया जाए. महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि सबको रिलीज किया गया.

महाराष्ट्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, मुंबई के आरे में पेड़ काटने पर लगाई रोक

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को कहा कि अब आप कोई पेड़ नही काटेंगे. कोर्ट में कहा कि इस मामले की सुनवाई बाद में करेंगे. साथ ही ये भी कहा कि सवाल एक पर्सेंट का नहीं है, यह गैरकानूनी है तो गैरकानूनी है. जस्टिस अरुण मिश्रा ने महाराष्ट्र सरकार को कहा कि आप रिपोर्ट कोर्ट को दें और बताएं कि आपने कितने पेड़ काटे हैं और कितने लगाए हैं. महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को भरोसा दिया कि अब वो आरे कॉलोनी के पेड़ नहीं काटेंगे.

आरे में पेड़ों की कटाई के मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू

मेट्रो कार शेड बनाने के लिए मुंबई स्थित आरे फॉरेस्ट एरिया के जंगलों की कटाई पर सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई हो रही है. गोपाल शंकर नारायण ने बहस की शुरुआत की. वहीं संजय हेगड़े छात्रों की तरफ से बहस कर रहे हैं. जस्टिस अरुण मिश्रा ने संजय हेगड़े से पूछा कि आप क्या कहना चाहते हैं, नट सेल में बताइए. इसके बाद संजय हेगड़े ने बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश को पढ़ना शुरू किया, जिसमें कोर्ट ने रोक लगाने से इनकार किया था.

आज सुप्रीम कोर्ट में आरे जंगलों की कटाई पर अहम सुनवाई

मुंबई स्थित आरे फॉरेस्ट एरिया को मेट्रो परियोजना के लिए काटने की मामले पर जारी रार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज अहम सुनवाई होनी है. अब तक 26 से ज्यादा पेड़ों की कटाई को लेकर लोगों में काफी गुस्सा है और वे बीएमसी और महाराष्ट्र सरकार की काफी आलोचना हो रही है. वहीं प्रदेश की सत्तारूढ़ बीजेपी और सहयोगी दल शिवसेना में भी काफी ठन गई है. आज सुप्रीम कोर्ट की स्पेशल बेंच कुछ देर में इसपर सुनवाई करने वाली है.

Aarey Forest Protest Live Updates: सुप्रीम कोर्ट की स्पेशल बेंच आरे जंगलों की कटाई के मामले में सोमवार सुबह 10 बजे करेगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने छात्रों के डेलिगेशन द्वारा सीजेआई रंजन गोगोई को लिखे पत्र के बाद सुओ मोटो एक्शन लेते हुए आरे जंगलों की कटाई के मामले में सोमवार सुबह 10 बजे सुनवाई का फैसला किया है. कोर्ट ने दशहरे की छुट्टी के बीच दो जजों की स्पेशल बेंच का गठन इस मामले की सुनवाई के लिए किया है.

Aarey Forest Protest Live Updates: पे़ड़ कटाई के विरोध ट्विट पर बोली यूजर- जड़ें पेड़ की नहीं, अपनी काट रहे हैं हम

Aarey Forest Protest Live Updates: आरे कॉलोनी में पेड़ कटाई को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है. ट्वीटर पर एक यूजर कह रही हैं कि ये जड़ें पेड़ की नहीं बल्कि मनुष्य अपनी काट रहे हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App