चंडीगढ़. मानहानि के मामले में बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगे जाने के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी लगातार घिरती जा रही है. आम आदमी पार्टी के नेताओं के अलावा सहयोगी पार्टियों ने भी केजरीवाल के इस कदम पर सवाल उठाने शुरु कर दिए हैं. इसी क्रम में पंजाब में आम आदमी पार्टी की सहयोगी लोक इंसाफ पार्टी (बैंस ब्रदर्स) ने आम आदमी पार्टी से गठबंधन तोड़ने का ऐलान किया है. लोक इंसाफ पार्टी के इस कदम को आम आदमी पार्टी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है.

इससे पहले भी लोक इंसाफ पार्टी आम आदमी पार्टी को 2017 में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान झटका दे चुकी है. लोक इंसाफ पार्टी के बैंस ब्रदर्स ने आम आदमी पार्टी के निर्णय के खिलाफ जाते हुए एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को अपना समर्थन दिया था. आम आदमी पार्टी ने राष्ट्रपति चुनाव के दौरान तय किया था कि वो एनडीए के प्रत्याशी को समर्थन नहीं करेगी. लेकिन लोक इंसाफ पार्टी के दो विधायकों ने बिना शर्त आम आदमी पार्टी को समर्थन किया था. बता दें कि लोक इंसाफ पार्टी के पंजाब में दो विधायक हैं.

आपको बता दें कि15 मार्च को अरविंद केजरीवाल ने मानहानि के मामले में पंजाब के पूर्व राजस्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से लिखित में माफी मांगी थी. अरविंद केजरीवाल ने विक्रम सिंह मजीठिया पर ड्रग्स व्यापार में शामिल होने का आरोप लगाया था जिसके बाद मजीठिया ने सीएम केजरीवाल पर मानहानि का मुकद्दमा दर्ज करा दिया था.

मजीठिया से केजरीवाल की माफी से भड़के सांसद भगवंत मान का आम आदमी पार्टी पंजाब अध्यक्ष पद से इस्तीफा

अरविंद केजरीवाल ने बिक्रम सिंह मजीठिया से मांगी लिखित माफी, ड्रग्स व्यापार में शामिल होने का लगाया था आरोप

अरविंद केजरीवाल के माफीनामे के बाद आप की पंजाब यूनिट में नाराजगी, कुमार विश्वास ने किया तंज भरा ट्वीट

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App