नई दिल्ली: अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी सरकार ने तय किया है कि दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा जबकि केंद्र सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में देशभर के किसी भी नागरिक का इलाज होगा. आप सरकार के इस आदेश पर जमकर राजनीति शुरू हो गई है. बीजेपी नेता एक सुर से दिल्ली सरकार के इस आदेश की निंदा कर रहे हैं और उसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

हाल ही में दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बने आदेश कुमार गुप्ता ने भी अरविंद केजरीवाल पर सिलसिलेवार तरीके से हमला बोला है. उन्होंने सीएम केजरीवाल के सामने इस फैसले को लेकर सवालों की झड़ी लगा दी है. उन्होंने आम आदमी से जुड़े सवाल पूछते हुए कहा कि दिल्ली में रोटी-रोजी के लिए आया हूं, अभी दिल्ली में हूं. इलाज के लिए कहां जाऊं, दिल्ली में रहूं या चला जाऊं?

दूसरा सवाल उन्होंने पूछा दिल्ली में इलाज के लिए कौन-कौन सा कागज दिखाना पड़ेगा? कागज नहीं है तो कहां जाऊं? तीसरे ट्वीट में उन्होंने सीएम केजरीवाल के बयान का ही हवाला देते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर आपने विधानसभा में कहा था कि आपके पास, मनीष सिसोदिया जी के पास, गोपाल राय जी के पास और आपके बाकी मंत्रियों के पास नहीं है. उन्होंने पूछा कि अब आपका इलाज कहां होगा?

इससे पहले आदेश कुमार गुप्ता ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने सीएम अरविंद केजरीवाल से फोन पर बातचीत कर उनका हाल चाल जाना. गौरतलब है कि रविवार से अरविंद केजरीवाल को हल्का बुखार और गले में दर्द की शिकायत थी जिसके बाद उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया था. मंगलवार को सीएम केजरीवाल का कोरोना टेस्ट होगा.

Arvind Kejriwal Corona Test: दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल में दिखे कोरोना के लक्षण, खुद को किया आइसोलेट, मंगलवार को होगा कोविड-19 टेस्ट

Corona Unlock Phase 1: कोरोना के साए में आज से खुल रहे हैं देशभर के मंदिर, मॉल और रेस्टोरेंट मगर जाने से पहले यहां पढ़ लें नियम और शर्तें

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर