नई दिल्ली: कोरोना काल में लाखों लोगों की नौकरी जाने के बाद रोटी-रोजी पर आए संकट को सरकार के सामने लाने के लिए देशभर के युवाओं ने आज 9 बजे 9 मिनट की मुहिम का आयोजन किया. रात 9 बजे 9 मिनट के लिए देशभर के युवाओं ने मोमत्ती और लालटेन जलाकर सरकार को रोजगार की तरफ ध्यान देने की अपील की. विपक्ष को भी इस मुहिम का समर्थन मिला और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव और राबड़ी देवी लालटेन लेकर 9 बजे 9 मिनट की मुहिम का हिस्सा बने. समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव ने भी इस मुहिम का समर्थन किया और लोगों से सरकार का ध्यान रोजगार की तरफ लाने के लिेए 9 बजे 9 मिनट के लिए मोमत्ती या लालटेन जलाने का आह्वान किया.

बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को कहा कि बेरोजगारी देश की सबसे बड़ी समस्या है. उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार में कोरोना संक्रमण के काल में घर लौटे लोगों को नीतीश सरकार रोजगार उपलब्ध कराने में विफल रही है. उन्होंने बेरोजगार युवकों और स्वयंसेवी संस्थाओं ने बुधवार की रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया, लालटेन या मोमबत्ती जलाने का आह्वान किया, जिसे उनकी पार्टी समर्थन दे रही है. अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर लोगों को इस मुहिम से जुड़ने का आह्वान किया. उन्होंने कहा ‘आइए युवाओं व उनके परिवार की बेरोज़गारी-बेकारी के इस अंधेरे में हम आज रात 9 बजे, 9 मिनट के लिए बत्तियां बुझाकर क्रांति की मशाल जलाएं, उनकी आवाज़ में आवाज़ मिलाएं!’

सोशल मीडिया पर भी इस मुहिम को व्यापक जनसमर्थन मिला और देखते ही देखते #9बजे9मिनट ट्रेंड करने लगा. लोग इस हैशटैग के साथ अपनी मोमत्ती वाली फोटो पोस्ट कर सरकार से रोजगार दिलाने की अपील कर रहे हैं. इस मुहिम को कई स्वतंत्र पत्रकारों और समाजसेवियों का भी समर्थन मिल रहा है.

Tej Pratap Yadav on Chandrika Rai: ससुर चंद्रिका राय के जेडीयू में शामिल होने को लेकर बोले तेज प्रताप, उनकी कोई हैसियत नहीं, जैसे फरियाना है फरिया लें

7th Pay Commission: 7th पे के तहत केंद्रीय कर्मचारियों को इस शर्त पर 3 बच्चों के लिए मिलता है चिल्ड्रन एजुकेशन अलाउंस, जानें नियम