श्रीनगर. केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार के दबाव के कारण शुक्रवार रात कट्टरपंथी नेता मसलत आलम के खिलाफ राजद्रोह और देश के विरोध में युद्ध छेड़ने से संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. मसरत को औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने शुक्रवार रात नेता मसरत के खिलाफ धारा 121ए (देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने) और धारा 124 (राजद्रोह) के तहत मामला दर्ज किया है. 

मसरत पर लगाए गए अतिरिक्त आरोपों के तहत उसे बडगाम के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) के समक्ष पेश किया गया, जिन्होंने उन्हें एक सप्ताह की पुलिस हिरासत में भेज दिया. मसरत और हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी के खिलाफ 14 अप्रैल के खिलाफ उस वक्त प्राथमिकी दर्ज की गई थी, जब अलगाववादियों की रैली के दौरान युवकों ने पाकिस्तानी झंडा लहराया था व भारत विरोधी नारेबाजी की थी.