मेरठ. अखिल भारतीय हिंदू महासभा के रविवार को नाथूराम गोडसे के बलिदान दिवस मनाने के बाद बवाल खड़ा हो गया है. हिंदू महासभा ने सिर्फ इतन अ ही नहीं किया बल्कि नाथूराम को शहीद बताते हुए उसके नाम पर एक वेबसाइट भी शुरू कर दी है. उधर RSS(राष्ट्रीय स्वयं सेवक) ने हिंदू महासभा के इस कदम की कड़ी आलोचना की है.  
 
हालांकि हहिंदू महासभा के इस कदम की सोशल मीडिया पर खासी आलोचना की जा रही है. महासभा के जिलाध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल ने कहा कि नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या की ये बात सब जानते हैं, लेकिन वो महात्मा गांधी की हत्या करने के क्यों मजबूर हुए ये बात भी जनता के सामने आनी चाहिए.
 
लॉन्च की नाथूराम गोडसे नाम की वेबसाइट 
इस मौके पर हिंदू महासभा की ओर से एक वेबसाइट भी लॉन्च की गई. इस वेबसाइट का नाम http://nathuramgodse.in/ रखा गया है. महासभा के पदाधिकारियों का कहना है कि इस वेबसाइट के जरिए नाथूराम गोडसे के जीवन से जुड़ी तमाम जानकारियों लोगों को उपलब्ध कराई जाएंगी. 
 
RSS उतरा विरोध में 
आरएसएस के विचारक एमजी वैद्य ने रविवार को कहा कि नाथूराम गोडसे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का हत्यारा था. उसका सम्मान करना किसी भी लिहाज से उचित नहीं है. साथ ही उन्होंने गोडसे की पुण्यतिथि को बलिदान दिवस के रूप में मनाने पर हिन्दुत्वादी संगठनों की कड़ी ओलाचना की. 
 
वैद्य ने कहा कि गांधी जी देश के लिए आदरणीय हैं. उनकी हत्या करने वाले का महिमामंडन सही नहीं है. जो भी संगठन ऐसा कर रहे हैं वह सरासर गलत है. हिन्दू महासभा, हिंदू सेना और महाराणा प्रताप बटालियन जैसे संगठनों ने रविवार को मुंबई सहित कई जगहों पर गोडसे की पुण्यतिथि को बलिदान दिवस के रूप में मनाई. महात्मा गांधी की हत्या करने के जुर्म में उसे 15 नवंबर 1949 को फांसी दी गई थी. 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App