पटना. बिहार में आज नीतीश कुमार के नेतृत्व में नई सरकार के गठन की प्रक्रिया शुरू हो गई है.  मंत्रिमंडल को भंग करने बाद नीतीश कुमार ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है और विधानसभा भंग करने की सिफारिश भी कर दी है. नीतीश आज ही जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस के महागठबंधन के संयुक्त विधायक दल के नेता चुने जाएंगे. जिसके बाद वे सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे. इस बाबत आज शाम तीन बजे महागठबंधन की बैठक भी होगी.
 
इसके साथ ही बिहार में लालू यादव अपनी पार्टी का नेता चुनेंगे. पटना में हुई विधायकों की बैठक में फैसला किया गया है. माना जा रहा है कि लालू जिसे भी चुनेंगे वो बिहार का उपमुख्यमंत्री बनेगा. निगाहें लालू के छोटे बेटे तेजस्वी पर टिकी हुई हैं. तेजस्वी राघोपुर विधानसभा से चुने गए हैं.
 
जेडीयू  के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण ने कहा, ‘यहां शनिवार को एक बैठक में सर्वप्रथम नवनिर्वाचित विधायक नीतीश को जेडीयू के नेता के रूप में चुनेंगे. उसके बाद जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस के विधायक एक संयुक्त बैठक में उन्हें महागठबंधन के नेता के रूप में चुनेंगे.’ नीतीश पहले ही कह चुके हैं कि वह 14 नवंबर को मंत्रिमंडल की आखिरी बैठक के बाद राज्य की विधानसभा भंग करने की सिफारिश करेंगे. जेडीयू नेताओं के अनुसार, नीतीश छठ पूजा के बाद 36 सदस्यीय मंत्रिमंडल के साथ 20 नवंबर को एक बार फिर राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App