बंगलोर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने 18वीं सदी में मैसूर के शासक रहे टीपू सुल्तान को सबसे असहिष्णु राजा बताया है. आरएसएस के दक्षिण-मध्य क्षेत्र के क्षेत्रीय संघचालक वी. नागराज ने कहा कि टीपू सुत्तान ने लोगों पर जुल्म किए थे और उसके जुल्म की दास्तां इतिहास के पन्नों में दर्ज है. नागराज संघ में कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के प्रमुख हैं.

ने कहा है कि टीपू सुल्तान एक ऐसा शासक था जिससे कर्नाटक के ज्यादातर लोग नफरत करते हैं. उन्होंने कहा कि इतिहासकारों ने लिखा है कि उसने चित्रदुर्गा, मेंगलुरु और मध्य कर्नाटक के लोगों पर किस कदर जुल्म ढाया था.

10 नवंबर को कर्नाटक सरकार मना रही है टीपू सुल्तान जयंती

उन्होंने कहा कि टीपू के जुल्म की दास्तां इतिहास में दर्ज है और वो अब तक का सर्वाधिक असहिष्णु शासक है. नागराज ने कहा कि ये सब आरएसएस की जुबानी, नहीं बल्कि एक ऐतिहासिक तथ्य है.

बता दें कि कर्नाटक सरकार ने 10 नवंबर को टीपू सुल्तान जयंती समारोह का आयोजन किया है और आरएसएस इस समारोह का विरोध कर रहा है. आरएसएस का कहना है कि कर्नाटक सरकार के इस फैसले के विरोध में वो धरना-प्रदर्शन भी करेंगे. विश्व हिंदू परिषद सहित संघ परिवार से जुड़े कई संगठनों ने इस कार्यक्रम में बाधा डालने का ऐलान किया है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App