मुंबई. मिस्टर इंडिया के नाम से मशहूर बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर का मानना है कि देश में  असहिष्णुता हमेशा से थी और ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है. फिल्मकार दिबाकर बनर्जी समेत कई लेखकों और फिल्मकारों की तरफ से राष्ट्रीय पुरस्कार लौटाए जाने के मुद्दे पर अनिल कपूर का कहना है कि इस तरह से अवॉर्ड लौटाना जायज नहीं है.

शाहरुख़ के घर की सुरक्षा बढ़ी, कैलाश बोले- नहीं बख्शा जाएगा 

अनिल कपूर का कहना है कि मेरा मानना है कि जो भी देश में इस वक्त हो रहा है, ऐसा कुछ नहीं है जो पहली बार हो रहा है. देश में चाहे कांग्रेस की सरकार हो या बीजेपी की हमें एकसाथ सद्भाव से जीना चाहिए.

अरुंधति रॉय ने भी मोदी सरकार के विरोध में लौटाया राष्ट्रीय पुरस्कार

शाहरूख की तरफ से दिए गए ‘देश में जबरदस्त असहिष्णुता  है’ वाले बयान पर अनिल का कहना है कि मुझे नहीं पता उन्होंने क्या कहा था, लेकिन जितना मैं उन्हें जानता हूं. उससे मुझे नहीं लगता उनका इरादा किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने का रहा होगा.

शाहरुख़ बोले- देश में असहिष्णुता नहीं, जबर्दस्त असहिष्णुता है

बता दें कि अनिल कपूर साइबर सुरक्षा के संदर्भ में उचित कदम उठाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलने राजधानी आए थे.

 

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App