नई दिल्ली. ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह दी है कि वो अपने नेताओं को भड़काऊ बयान देने से रोकें नहीं तो उनकी साख पर बट्टा लगेगा. मूडीज ने कहा है कि ऐसा ही रहा तो राज्यसभा में आर्थिक नीतियों के बदले सांप्रदायिक हिंसा जैसे मुद्दों पर बहस होगी.
 
मूडीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मोदी सरकार की कामयाबी को कई राजनीतिक मुद्दे प्रभावित करेंगे लेकिन मोदी हाल के दिनों में अपने नेताओं को विवादास्पद बयान देने से रोक नहीं पाए हैं. 
 
एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि देश में सांप्रदायिक तनाव बढ़ा है और पीएम मोदी ने खुद को अपने नेताओं के इस तरह के बयान से दूर रखा है. मूडीज ने कहा है कि माहौल ऐसा ही रहा तो राज्यसभा में आर्थिक मसलों के बजाय सांप्रदायिक मसलों पर बहस में सरकार उलझ जाएगी. 
 
मूडीज ने नरेंद्र मोदी को सलाह दी है कि अपनी विश्वसनीयता और साख बनाए रखनी है तो उन्हें अपनी पार्टी के नेताओं को इस तरह का बयान देने से रोकना होगा.