इंदौर. आरएसएस विचारक और बीजेपी महासचिव राम माधव ने बीफ विवाद पर पार्टी के रुख में नरमी का संकेत देते हुए कहा कि बीफ खाना किसी धर्म का नहीं बल्कि लाइफस्टाइल का मसला है. माधव ने इंदौर में आयोजित अंतराष्ट्रीय धर्म-धम्म सम्मेलन में दादरी जैसी घटनाओं की निंदा की और बीफ पर जारी विवाद को निरर्थक बताया.  
 
माधव ने कहा कि हमारे यहां लोग अपनी महत्वकांक्षा पूरी करने के लिए उसे धार्मिक या राजनीतिक रंग दे देते हैं. यह कतई ठीक नहीं है. एक व्यक्ति के साथ घटना हुई है तो यह निंदनीय है लेकिन इस पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए. माधव ने ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित एक चर्चा में यह कहकर सबको चौंका दिया. माधव यहां अंतराष्ट्रीय धर्म-धम्म सम्मेलन में शामिल होने आए थे. उन्होंने कहा बेवजह इस मुद्धे पर कुछ कतिपय साहित्यकार भी अपने सम्मान वापस करने की राजनीति कर रहे हैं. यह तरीका ठीक नहीं. यदि राजनीति ही करना है तो खुलकर करें. साहित्यकार को अपनी बात कलम के माध्यम से ही कहना चाहिए. इसी से वे अपनी विचारधारा के बारे में बताएं.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App