नई दिल्ली.  इंडो-अफ्रीका सम्मेलन पर इस्लामिक स्टेट( ISIS) और बोको हराम के हमले का खतरा मंडरा रहा है. सूत्रों के मुताबिक़, आईएस और बोको हराम के खतरे की सूचना के बाद सुरक्षा जांच एजेंसियों ने सम्मलेन की  सुरक्षा कड़ी कर दी है. 
 
इस सम्मेलन में अफ्रीका महाद्वीप के 54 देशों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं इसलिए यहां 5000 से ज्यादा पुलिसकर्मीसमिट की सुरक्षा में लगाए गए हैं. 29 अक्टूबर को सुरक्षा और कड़ी कर दी जाएगी, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई भारतीय उच्चाधिकारी अफ्रीका के नेताओं से मिलने पहुंचेंगे. 
 
नाइजीरिया में बोको हराम के हुए आतंकी हमलों में अब तक हजारों लोग मारे जा चुके हैं और अफ्रीका के कुछ देशों में आईएसआईएस का प्रभाव भी बढ़ रहा है. बोको हराम ने नाइजीरिया में शरिया कानून लागू करने की धमकी दी है. 
 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App