लखनऊ. उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम और बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने हरियाणा में दलित बच्चों को जिंदा जलाने के बाद केंद्रीय मंत्री वीके सिंह के बयान को शर्मनाक और जातिवादी बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीके सिंह को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की है.
 
मायावती ने कहा कि कहा कि यदि मोदी सही मायने में बाबा साहब अम्बेडकर का सम्मान करते हैं तो वीके सिंह को तत्काल मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर उनके खिलाफ मामला दर्ज करवाएं.
 
मायावती ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि बिहार चुनाव को देखते हुए राहुल वहां दलितों के आंसू पोंछने पहुंचे. केंद्र में जब कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार थी तो हरियाणा से बड़ी संख्या में दलितों का पलायन हुआ लेकिन तब उन्होंने कोई कदम नही उठाया.
 
मोहन भागवत को बताया नाटकबाज
 
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दशहरा भाषण में अम्बेडकर को सामाजिक समानता का बहुत बड़ा पैरोकार बताने को मायावती ने नाटक करार दिया. उन्होंने कहा कि अम्बेडकर को लेकर भागवत बड़ी-बड़ी बयानबाजी करते हैं लेकिन उन्हें अगर सही मायने में दलितों की चिंता है तो वह दलितों के खिलाफ टिप्पणी करने वाले मंत्री पर कार्रवाई करवाएं.
 
मायावती ने प्रधानमंत्री मोदी से दो टूक कहा कि वो वीके सिंह के खिलाफ कार्रवाई करें नहीं तो दलित समाज समझेगा कि अम्बेडकर को दिया जाने वाला आदर और सम्मान झूठा और दिखावा है.
 
उन्होंने कहा, “पिछले तीन-चार महीने के दौरान केंद्र सरकार ने जिस तरह से बाबा साहब को आदर और सम्मान दिया है, वह काफी अच्छी बात है. लेकिन सरकार के मंत्री जिस तरह से दलित विरोधी बयान दे रहे हैं, उससे लगता है कि अम्बेडकर को सम्मान सिर्फ नाटक है.”

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App