चंडीगढ़. पंजाब में धर्मग्रंथ को जलाने का प्लान दुबई और आस्ट्रेलिया में रचा गया था. इस घटना के लिए गठित पंजाब पुलिस के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक इकबाल प्रीत सिंह सहोता के नेतृत्व में गठित एसआईटी की जांच में यह बात सामने आई है कि है कि दुबई और आस्ट्रेलिया से इस योजना के लिए वित्तीय सहायता मिली थी.
 
 
सहोता ने बताया कि फरीदकोट के बारगडी गांव में हुई घटना के सिलसिले में राज्य पुलिस ने दो भाइयों रुपिन्द्र सिंह और जसविंदर सिंह को गिरफ्तार किया है. इनके तार दुबई और आस्ट्रेलिया से जुड़े हुए है जहां से उन्हें वित्तीय सहायता मिलने की बात सामने आई है.
 
बरगाड़ी के लिए अलावा अन्य घटनाएं संगरूर के कोहरिन ,अमृतसर के निज्जारपुर, लुधियान के गवाद्दी और बाथ तारेन में हुई. उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान रूपिन्द्र सिंह ने बताया कि उसने विदेश में अपने आकांओं से बात की थी और पवित्र ग्रंथ के अपमान के कृत्य को अंजाम देने की एवज में उसने नकदी देने के बारे में चर्चा की थी. 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App