नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. सोनिया गांधी और राहुल गांधी की तरफ से दायर की गई एक याचिका पर अलग बर्ताव को लेकर उन्हें आपत्ति थी. हाईकोर्ट में दाखिल की गई इस याचिका में उन्होंने कहा कि निचली अदालत के एक फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर जज एस गौड़ ने सुनवाई की थी.
 
सोनिया-राहुल की इस अर्जी को एक अन्य जज पी एस तेजी के पास सुनवाई के लिए भेज दिया गया है जो अदालत की अपनाई जाने वाली प्रक्रिया का उल्लंघन है. आवेदन में कहा गया है कि उनकी याचिका को जज गौड़ की पीठ के सामने रखा जाना चाहिए, इनके पास यह मामला पिछले आठ महीने से अधिक समय से लंबित था. उन्होंने कई मौकों पर विस्तार से इसकी सुनवाई की है.
 
इसके अलावा इस आवेदन में कहा गया है कि उपरोक्त तथ्यों और परिस्थिति के मद्देनजर अदालत इस मामले में विचार कर सकती है. याचिकाकर्ता को इस बात से कोई कठिनाई नहीं है कि मामले को कानून के अनुरूप किसी उचित पीठ के सामने रखा जाए. आपको बता दें कि नेशनल हेराल्ड मामले में सुनवाई आज  दिल्ली हाईकोर्ट करेगा.