नई दिल्ली. लुइस बर्जर रिश्वत कांड में अपराध शाखा ने जांच के बाद खुलासा किया है कि गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिगंबर कामत ने पार्टी फंड के नाम पर रिश्वत मांगी थी.
 
कामत ने अग्रिम जमानत के लिए अदालत की शरण ली है. कामत के मुताबिक राज्य सरकार उन्हें गलत तरीके से फंसा रही है. कामत ने  अग्रिम जमानत मांगते हुए अदालत को लिखा है कि राज्य सरकार ने पुलिस को मामले में मुझे गलत तरह से फंसाने के लिए पूरे अधिकार दिए हैं.’ अदालत उनकी अग्रिम जमानत पर 19 अगस्त को फैसला सुनाएगी.
 
क्या है मामला? 
अमेरिकी कंपनी लुईस बर्जर ने जेआईसीए के तहत परिचालित एक जल परियोजना में परामर्श का ठेका हासिल करने के लिए कथित तौर पर मंत्रियों को रिश्वत दी थी.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App