बनारस: काशी हिंदू यूनिवर्सिटी मामले में सरकार की कार्रवाई पर भी सवाल उठ रहे हैं. सवाल ये कि यूनिवर्सिटी प्रशासन पर कार्रवाई कब होगी जिसकी लापरवाही के चलते हालात बिगड़ गए. 21 तारीख की एक चिट्ठी सामने आई है जिसमें हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों ने प्रॉक्टर से आए दिन होने वाली छेड़छाड़ की शिकायत की थी. लड़कों की अश्लील हरकतों का भी ज़िक्र किया था, प्रॉक्टर और डीन से सुरक्षा की मांग की गई थी लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. 21 तारीख की शाम को ही बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स की एक छात्रा के साथ बाइक सवार कुछ लड़कों ने छेड़छाड़ की. ये छेड़छाड़ यूनिवर्सिटी कैंपस में हुई.
 
छात्रा शिकायत करने प्रॉक्टर के पास पहुंची तो उसने छात्रा को ही नसीहत दे डाली कि शाम 6 बजे के बाद बाहर ना निकले. छात्रा ने पूरी बात हॉस्टल आकर दूसरी छात्राओं को बताई तो उनका गुस्सा फट पड़ा. छात्राओं ने रात में ही बीएचयू के संकुल गेट पर आकर प्रदर्शन शुरु कर दिया. बीएचयू में मचे बवाल की गूंज आज दिल्ली में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भी सुनाई पड़ी. पीएम मोदी ने छात्राओं पर हुए लाठीचार्ज को लेकर चिंता जताई और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की. योगी भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के बैठक में हिस्सा लेने दिल्ली आए हुए थे. पीएम मोदी ने योगी को जरूरी कार्रवाई के निर्देश दिए.
 
जहां तक कार्रवाई की बात है तो लाठीचार्ज के मामले में सीएम योगी ने जांच के आदेश दे दिए हैं. वहीं, 3 अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट को हटा दिया गया है. लंका थाने के इंचार्ज और भेलूपुर के CO को भी हटाया गया है. हिंसा में शामिल होने के आरोप में 1200 अज्ञात छात्र-छात्राओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. बता दें कि बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में शनिवार के बाद रविवार को हंगामा हुआ और धरने पर बैठे छात्र-छात्राओं को पुलिस ने खदेड़ दिया और लाठी चार्ज किया. छात्रों का दल रविवार को शांति मार्च निकाल रहा था. इससे वहां का माहौल काफी गरमा गया है. फिलहाल पूरे कैंपस में कर्फ्यू से नजारा है. 
 
इसे देखते हुए तमाम कॉलेजों को दशहरा तक के लिए बंद कर दिया गया है. इसके साथ ही तीन एसएसपी, छह सीओ, पंद्रह थानेदार और एक सौ पचार दरोगा की तैनाती की गई है. साथ में पांच कंपनी पीएसी और 1000 से अधिक अतिरिक्त पुलिस कर्मी की तैनाती की गई है. बीएचयू में हुए लाठी चार्ज को लेकर माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है.  छात्राओं का साफ कहना है कि हमें सुरक्षा चाहिए, प्रशासन हमारी समस्याओं को समझे. लड़कियों ने ये भी साफ किया कि सुरक्षित रहेंगी बेटियां तभी तो पढ़ेंगी बेटियां. वहीं BHU गेट पर प्रदर्शन में शामिल होने जा रहे कांग्रेस नेता राज बब्बर, पीएल पुनिया और अजय राय को पुलिस ने हिरासत में लिया है.