बनारस: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को दो दिनों के लिए अपने संसदीय क्षेत्र बनारस पहुंचे हैं. मोदी ने यहां करीब एक हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास किया. पीएम ने वीडियो लिंक के जरिए महामना एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई. महामना एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाने के बाद रेलमंत्री पीयूष गोयल ट्रेन में सवार नजर आए.
 
रेलमंत्री गोयल मुसाफिरों के बीच बैठे और उनसे बातचीत भी की. उन्होंने कहा कि महामना एक्सप्रेस ने बनारस को गुजरात के वड़ोदरा से जोड़ा है. वड़ोदरा गुजरात की सांस्कृतिक राजधानी और बनारस भारत के सबसे पुराना शहर है. दोनों शहरों के बीच की दूरी 1531 किलोमीटर है और 55.7 किलोमीटर प्रति घंटा की औसत रफ्तार से यह ट्रेन इस दूरी को 27 घंटे और 30 मिनट में तय करेगी.
 
 
यह ट्रेन वडोदरा को बुधवार से चलकर गुरुवार को वाराणसी पहुंचेगी और शुक्रवार को वाराणसी से चलेगी. महामना एक्सप्रेस में एसी फर्स्टक्लास का एक कोच और एसी 2 के दो कोच हो सकते हैं. जबकि आठ स्लीपर क्लास, जनरल और दो ब्रेकयान, पेंट्रीकार मिलाकर कुल 18 कोच होने की संभावना है. 
आधिकारिक रुप से इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई है. ट्रेन शुरू होने के बाद खासकर उत्तर भारतीयों को बड़ी राहत मिली है. बता दें कि मोदी सरकार ने रेलवे की मेक इन इंडिया के तहत साल 2016 में महामना एक्स्प्रेस के पहले रैक का लोकार्पण किया था.