रोहतक: मीडिया में इन दिनों आप राम रहीम के बारे में काफी कुछ पढ़, देख और सुन रहे होंगे. राम रहीम और हनीप्रीत इन दिनों मीडिया में छाए हुए हैं. फिलहाल राम रहीम रेप केस में 20 साल जेल की सजा काट रहा है. अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स ने रोहतक जेल के डीजीपी के पी सिंह के बात कर राम रहीम के बारे में चल रही खबरों का जवाब दिया और उसकी दिनचर्या के बारे में जानकारी दी.
 
उन्होंने बताया कि राम रहीम को जेल में सब्जी उगाने का काम दिया गया है जिसके बदले हर दिन उसे 20 रूपये दिए जाते हैं. उन्होंने बताया कि जेल में बहुत से कुशल श्रम भी कराए जाते हैं लेकिन राम रहीम से सिर्फ अकुलश श्रम कराया जा रहा है और अकुशल श्रम के लिए तय मजदूरी ही राम रहीम को दी जा रही है. डीजीपी सिंह के मुताबिक राम रहीम की बैरक के पास छोटी सी खाली जमीन है जहां वो हर रोज 4 से 5 घंटों तक सब्जियां उगाने का काम करता है. 
 
ना टीवी ना अखबार
 
राम रहीम को ना तो अखबार पढ़ने की इजाजत है और ना ही वो टीवी देख सकता है. बाहर की दुनिया से उसे पूरी तरह काट दिया गया है. हालांकि डीजीपी सिंह ने बताया कि कई बैरक में अखबार और टीवी की सुविधा है लेकिन राम रहीम की बैरक में ये सुविधा नहीं दी गई है. उन्होंने बताया कि सुरक्षा कारणों की वजह से राम रहीम को किसी को फोन करने की भी इजाजत नहीं है.
 
जेल में अकेला नहीं है राम रहीम
 
डीजीपी सिंह के मुताबिक मीडिया में चल रही ये खबर कि राम रहीम अपने बैरक में अकेला है ये बात बिलकुल गलत है. उसके साथ तीन और लोग हैं जिन्हें उम्रकैद की सजा मिली हुई है. उन्होंने कहा कि राम रहीम को उस बैरक में रखने से पहले बहुत सोच विचार किया गया. इस बात की भी पड़ताल की गई कि कहीं वो डेरा समर्थक या डेरा के भक्त तो नहीं है. उन्होंने बताया कि तीनों कैदी उस बैरक में दस साल बिता चुके हैं और उनमें से एक की उम्र 70 साल से भी ज्यादा है. 
 
 
प्रतिदिन 3100 से ज्यादा नहीं
 
डीजीपी सिंह के मुताबिक राम रहीम प्रतिदिन 3175 कैलेरी से ज्यादा नहीं ले सकता. उसे नाश्ते में रोज दो ब्रैड और ग्राम दूध मिलता है. लंच में उसे सात रोटी और कोई भी एक सीजनल सब्जी मिलती है. रात के खाने से पहले वो सिर्फ शाम को एक बार चाय पी सकता है. उन्होंने बताया कि जेल का खाना फिक्स रहता है जिसे पहले ही तय कर लिया जाता है. उन्होंने बताया कि मंगलवार दोपहर को जेल में लौकी की सब्जी बनी थी.
 
 
जेल के ई-वालेट में 5000 रूपये तक रख सकता है राम रहीम
 
करीब 100 करोड़ से भी ज्यादा के मालिक राम रहीम को सिर्फ 5000 रूपये तक रखने की इजाजत है और वो भी उसे जेल के ई-अकाउंट में रखना होगा. वो इन पैसों से जेल की कैंटीन से खाने के लिए फल और दूसरी चीजें खरीद सकता है.
 
जेल में भगवद गीता पढ़ता है राम रहीम
 
डीजीपी सिंह के मुताबिक राम रहीम ने जेल में आने के बाद सिर्फ एक ही किताब मांगी और वो थी भगवद गीता. वो उसे ही पढ़ता था. पिछले दिनों राम रहीम की मां जब उससे मिलने आई तो वो अपने साथ दो और किताबें लेकर आई थी जो शायद डेरे की ही किताबें हैं.
 
जेल में कभी नहीं रोया राम रहीम: डीजीपी
 
डीजीपी सिंह के मुताबिक बैरक में राम रहीम के साथियों ने बताया कि वो बैरक में कभी नहीं रोया. उन्होंने कहा तीन लोगों के बीच राम रहीम जब चौथा कैदी बनकर आया तो उन्हें कुछ दिन जरूर परेशानी हुई लेकिन बाद में वो उनमें मिल गया और अब सब नॉर्मल है.
 
सिर्फ कुर्ता-पाजामा पहनाता है कैदी नंबर 8647
 
कभी लाखों रूपये के महंगे कपड़े पहनने वाला राम रहीम अब सिर्फ कुर्ता पाजामा पहनता है जो जेल की यूनिफॉर्म है. इससे पहले खबर आई थी कि जेल में राम रहीम का कैदी नंबर 1997 है लेकिन उन्होंने बताया का जेल में राम रहीम कैदी नंबर 8647 है.   
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर