देहरादून: जज द्वारा एक पुलिसकर्मी को पीटने का वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. ये वीडियो उत्तराखंड का है. आरोप है कि यूपी की निचली अदालत की  महिला जज जया पाठक ने ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारी को ना सिर्फ थप्पड़ मारा बल्कि उन्हें गालियां भी दीं. 
 
उत्तराखंड पुलिस के एसपी प्रदीप राय ने इलाहाबाद हाई कोर्ट को पत्र लिखकर आरोपी जज के खिलाफ शिकायत दर्ज करने की इजाजत मांगी है. पुलिस ने सबूत के तौर पर मारपीट का वीडियो भी शेयर किया है. 
 
पुलिस ने इलाहाबाद हाई कोर्ट को लिखे पत्र में कहा है कि ‘ जज ने आम आदमी की तरह व्यवहार किया, उन्होंने बिना किसी बात के पुलिसकर्मियों को गालियां दीं, उनके साथ मारपीट की और सरकारी काम में बाधा डाला.’ 
 
 
एसपी प्रदीप राय के मुताबिक इलाहाबाद हाई कोर्ट के रिजस्ट्रार से स्वीकृति मिलने के बाद आरोपी जज के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा. कानून के मुताबिक सरकारी अधिकारी के खिलाफ शिकायत दर्ज करने से पहले सक्षम प्राधिकारी से मंजूरी लेना अनिवार्य है. 
 
जानकारी के मुताबिक 12 सितंबर को जज जया पाठक अपने बेटे के साथ देरहादून के प्रेम नगर थाने में अपने बेटे के साथ आई थीं. उनके बेटा यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एंड एनर्जी स्टडीज में पढ़ाई करता है. पुलिस के मुताबिक जज जया पाठक छात्रों के साथ पुलिस थाने आईं थीं जिनकी पहले सोमवार को और फिर मंगलवार को आपस में झड़प हुई थी. 
 
वायरल हो रहे वीडियो में जज जया पाठक पुलिसकर्मी को थप्पड़ मारती हुई नजर आ रही हैं. वहीं पुलिसकर्मी उन्हें लगातार ऐसा ना करने को कह रहे हैं. वीडियो में पुलिसकर्मी कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि आप जज हैं तो क्या आप हमारे साथ ऐसा करेंगी?