नई दिल्ली: कुलभूषण जाधव को बचाने के लिए भारत के साथ-साथ अब अमेरिका में भी मुहिम छिड़ गई है. भारतीय अमेरिकियों ने ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है.
 
जाधव को बचाने के लिए भारतीय अमेरिकियों व्हाइट हाउस में याचिका दायर कर ट्रंप प्रशासन से हस्तक्षेप करने की मांग की है. पिटीशन दायर होने के बाद व्हाइट हाउस इस पर कोई प्रतिक्रिया दे इसके लिए 14 मई तक इस पर एक लाख लोगों के हस्ताक्षर की जरूरत होगी. अगर ऐसा होता है तो ट्रंप प्रशासन इस पर कुछ एक्शन ले सकता है.
भारतीय अमेरिकियों ने कहा कि पाकिस्तान किसी के साथ ऐसा कैसे कर सकता है. जो व्यक्ति दोषी ही नहीं है उसको पाक सैन्य अदालत फांसी की सजा कैसे सुना सकती है. पीटिशन में यह भी कहा गया है कि कुलभूषण जाधव के पास पासपोर्ट भी है, इसके बाद भी पाक ने उनको जासूस करार दिया है. आपको बता दें नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाक की सैन्य कोर्ट ने जासूसी के खिलाफ केस में फांसी की सजा सुनाई है.
 
भारत दर्ज करा चुका है विरोध
कुलभूषण को फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद से ही भारत लगातार अपना विरोध जता रहा है. इसके बाद भी दोनों के बीच इस मुद्दे पर कोई खास बातचीत नहीं हो पाई है. लेकिन अब अगर अमेरिका इसमें हस्तक्षेप करता है तो ये कुलभूषण के साथ-साथ भारत के लिए राहत भरा कदम हो सकता है. हालांकि अभी तक कुलभूषण के मामले पर ना तो व्हाइट हाउस से कोई बयान जारी किया है और ना ही किसी अन्य देश की ओर से.