नई दिल्ली: लॉकडाउन के बीच लोगों को बड़ी आर्थिक राहत देते हुए आरबीआई ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में भारी कटौती का एलान किया. आरबीआई ने रेपो रेट में 75 बेसिक प्वाइंट की कटौती की है जिसके बाद रेपो रेट 5.15 से घटकर 4.45 फीसदी हो गया है. इसके अलावा रिजर्व बैंक ने बैंकों को सलाह दी है कि लोन की ईएमआई देने वाले लोगों को ईएमआई से तीन महीने की छूट दी जाए. अब बैंक के ऊपर निर्भर करेगा कि वो ईएमआई में ग्राहकों को छूट देता है या नहीं.

इसके साथ ही बैंक ये भी तय करेंगे कि वो कौन से ईएमआई पर छूट दे रहे हैं. लोगों के बीच दुविधा बनी हुई है कि बैंक रिटेल, कमर्शियल या कौन सी तरह के लोन पर छूट दे रहे हैं. हम आपको एक बार फिर बता दें कि आरबीआई ने बैंकों को ईएमआई में तीन महीने की राहत देने की सिर्फ सलाह दी है, बैंक तीन महीने की ईएमआई में राहत देने के लिए प्रतिबद्ध नहीं है. हालांकि रेपो रेट घटने से होम, कार और अन्य तरह के लोन भरने वाले करोड़ों लोगों को फायदा मिलेगा. आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट में भी 90 बेसिक प्वाइंट की कटौती करते हुए चार फीसदी तक दी है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने आरबीआई के फैसले की तारीफ करते हुए इकनॉमी के लिए अहम कदम बताया है. पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से अर्थव्यवस्था को होने वाले नुकसान से बचाने के लिए आरबीआई ने बड़ा कदम उठाया है. पीएम मोदी ने कहा कि आरबीआई के फैसले से बचत होगी और मध्यम और कारोबारी वर्ग को फायदा पहुंचेगा. गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 21 दिनों के लॉकडाउन की वजह से गरीबों के लिए 1.70 लाख करोड़ के स्पेशल पैकेज का ऐलान कर चुकी हैं.

Major coronavirus scare in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस का बड़ा संकट, मोहल्ला क्लीनिक के डॉक्टर हुए कोरोना संक्रमित, 800 लोगों को किया गया घर में बंद

Coronavirus Lockdown India LIVE Updates: भारत में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या पहुंची 633, अबतक 15 लोगों की मौत