नई दिल्ली. गोवा में होने वाले ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने के लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन आज भारत पहुंच रहे हैं. यह सम्मेलन शनिवार से शुरू होने वाला है. इस सम्मलेन के अलावा भारत और रूस के बीच कई नए रक्षा सौदों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है. इनमें मुख्य रुप से एस-400 ट्रंफ लंबी दूरी की क्षमता वाली वायु रक्षा मिसाइल प्रणाली शामिल है. जिस पर दोनों देश  शनिवार को हस्ताक्षर कर सकते हैं. रूस ने इसकी पहली ही घोषणा कर दी है.
 
रूसी मीडिया के द्वारा गुरुवार को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होने वाली वार्षिक शिखर वार्ता में कई अहम रक्षा समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे. 
 
33,500 करोड़ रुपये के रक्षा समझौते पर हस्‍ताक्षर होंगे
रुस के राष्ट्रपति के सहयोगी यूरी उशाकोव के हवाले से रूसी तास समाचार एजेंसी ने गुरुवार को छापा था कि हमारे राष्ट्रपति और भारतीय प्रधानमंत्री मोदी की बातचीत के बाद भारत को एस-400 ट्रंफ विमान रोधी मिसाइल प्रणाली की आपूर्ति पर एक समझौता किया जाएगा और 33,500 करोड़ रुपये के रक्षा समझौते पर हस्‍ताक्षर होंगे. भारत और रूस के बीच शनिवार को इस समझौते के तहत रूस से भारत को जमीन से हवा में मार करने वाली एस-400 मिसाइलों की आपूर्ति की जाएगी.
 
बता दें कि अगर भारत समझौते पर हस्ताक्षर करता है तो यह चीन के बाद इस मिसाइल प्रणाली का दूसरा ग्राहक होगा. चीन ने पिछले साल तीन अरब डॉलर का करार किया था. एस-400 पहले केवल रूसी रक्षा बलों के लिए ही उपलब्ध था. यह एस-300 का उन्नत संस्करण है. एजेंसी के मुताबिक रुस की भारत के लिए प्रोजेक्ट 11356 के तहत युद्धपोत बनाने के संबंध में समझौता करने की और कामोव का-226 टी हेलीकॉप्टर के उत्पादन के लिए रुस-भारत का संयुक्त उपक्रम स्थापित करने की भी योजना है. 
  
गोवा में 15 अक्तूबर से शुरू हो रहा है ब्रिक्स शिखर सम्मेलन
गोवा में 15 अक्तूबर से शुरू हो रहे ब्रिक्स शिखर सम्मेलन और बिम्सटेक सम्मेलन के इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 द्विपक्षीय मुलाकातें करेंगे. इनमें रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ वार्षिक शिखर सम्मेलन भी शामिल हैं. मोदी शनिवार को पुतिन से मिलेंगे साथ ही चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी द्विपक्षीय वार्ता होने की संभावना है. वहीं प्रधानमंत्री मोदी सोमवार को ब्राजील के राष्ट्रपति मिचेल टेमर से द्विपक्षीय मुलाकात करेंगे.