नौशेरा. भारत की पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बौखलाए पाकिस्तान की आरे से जवाबी हमले की धमकियां दी जा रही हैं. लेकिन, भारतीय सेना किसी भी साजिश को नाकाम करने के लिए पूरी तैयारी कर रही है. इसलिए यहां सेना के स्नाइपर्स का ड्यूटी मंत्र बन गया है, ‘दुश्मन शिकार, हम शिकार’. 
 
नियंत्रण रेखा से लगे जंगलों और पैदल रास्तों पर मौजूद पेड़ों पर तख्तियां टांगी गई हैं, जिस पर लिखा है ‘दुश्मन शिकार, हम शिकारी’. एलओसी से लगे नौशेरा सेक्टर में लगे एक सैन्य अधिकारी ने कहा कि सेना पूरी तरह तैयार और अलर्ट हैं. जवान जोश में हैं और उनका हौसला बुलंद है. 
 
स्नाइपर्स का निशाना है अचूक
सर्जिकल स्ट्राइक के बाद एलओसी पर तैनात जवानों से साफ कहा गया है कि सीजफायर का उल्लंघन होने पर और पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ करने वाले आतंकियों पर जमकर फायरिंग करें। एक निशानेबाज ने कहा, ‘दुश्मन लक्ष्मण रेखा (एलओसी) के पार बैठा है. वो मेरा शिकार है और मैं शिकारी. कोई भी सीमा पार करेगा तो उसे बख्शा नहीं जाएगा. यही हमारा उद्देश्य है.’ उन्होंने ये भी बताया कि भारत के स्नाइपर्स काफी प्रशिक्षित हैं और उनका निशाना अचूक है.
 
सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जम्मू और कश्मीर में घुसपैठ की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. पाक सेना की तरफ से करीब 26 बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया है. हाल ही में पंपोर में भारतीय सेना पर हमला भी किया गया था, जो लगभग तीन दिन चला था. इसमें सेना ने आतंकियों को मार गिराया.