नई दिल्ली. दोनों देशों के बीच चल रहे तनाव को दरकिनार करते हुए पाकिस्तान ने भारत से ‘डांसिंग गर्ल’ वापस मांगी है. कांसे की बनी डांसिंग गर्ल की मूर्ति करीब 4500 साल पुरानी है. इस मुर्ति की तारीफ में ब्रिटिश पुरातत्वविद् मोर्टिमर व्हीलर ने कहा था कि इसके जैसा दुनिया में कुछ नहीं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक 10.5 सेंटीमीटर ऊंची मोहनजोदारो की डांसिंग गर्ल की मूर्ति को 1926 में सिंध प्रांत में पाया गया था, जिसे अब नई दिल्ली के एक संग्रहालय में रखा गया है. पाकिस्तान राष्ट्रीय कला काउंसिल के डायरेक्टर जनरल सैयद जमाल शाह ने एक अखबार को बताया कि पाकिस्तान इस मूर्ति की डिमांड यूनेस्को के सम्मेलन में जोर शोर से उठेगी. उन्होंने कहा कि यह पहली दफा है जब भारत सरकार से डांसिंग गर्ल की मूर्ति मांगी जा रही है.
 
मूर्ति की तारीफ में ब्रिटिश पुरातत्वविद् मोर्टिमर व्हीलर ने कहा था, ‘हमें उसे 15 साल से अधिक का नहीं मानना चाहिए. उसके हाथों में चूड़ियां हैं. वह पूरी तरह से एक लड़की है जो आत्मविश्वास से लबरेज है. इसके जैसा दुनिया में कोई नहीं है.’